Home बड़ी खबर नेपाल के रास्ते कोरोना फैलाने की साजिश, बिहार सरकार ने दिए जांच के आदेश

नेपाल के रास्ते कोरोना फैलाने की साजिश, बिहार सरकार ने दिए जांच के आदेश

6 second read
0
0
24

सीमा सुरक्षा बल (एसएसबी) की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक पड़ोसी देश नेपाल में बैठा अपराधी जालिम मुखिया बिहार में कोरोना फैलाने की साजिश रच रहा है। कोरोना पॉजिटिव पाए गए लोगों को वह भारत में चोरी-छुपे प्रवेश कराने की फिराक में है। एसएसबी ने बेतिया प्रशासन को इसकी जानकारी देते हुए अलर्ट कर दिया है। इस खुलासे के बाद बिहार सरकार भी हरकत में आ गई है और भारत-नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। 

जालिम मुखिया नेपाल के परसा जिले के सेरवा थानाक्षेत्र स्थित जगरनाथ पुर गांव का रहनेवाला है। हथियार और नकली भारतीय नोटों की तस्करी में वह शामिल रहा है। इन मामलों में उसके खिलाफ चार्जशीट भी हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक तबलीगी जमात का नेटवर्क नेपाल में भी है। निजामुद्दीन स्थित जमात के मरकज से निकले के बाद कई लोग नेपाल गए थे। इनमें भारत के भी जमात से जुड़े सदस्य शामिल हैं। लॉकडाउन के बाद वह नेपाल में फंस गए हैं। इनमें कई के कोरोना पॉजिटिव होने की भी बात है। भारत लौटने के लिए वे स्थानीय बदमाश जालिम मुखिया के संपर्क में है। जालिम उन्हें अपने नेटवर्क का इस्तेमाल कर बॉर्डर पार कराने की फिराक में है। यदि ये बिहार में प्रवेश कर जाते हैं तो कोरोना वायरस और तेजी से फैल सकता है। 

एसएसबी के इनपुट पर पश्चिम चंपारण के डीएम कुंदन कुमार ने जिले के साथ बगहा के एसपी, नरकटियागंज और बगहा के एसडीपीओ के साथ सीमावर्ती इलाके के बीडीओ को पत्र लिखा है। इसमें एसएसबी द्वारा दिए गए इनपुट को साझा करते हुए चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। पत्र में लिखा गया है कि एसएसबी के कमांडेंट ने सूचना दी है कि नेपाल का जालिम मुखिया बिहार में कोरोना फैलाने की साजिश रच रहा है। 40-50 संदिग्धों के भारत में आने भी सूचना दी गई है। इसके बाद सीमावर्ती इलाके में पुलिस व एसएसबी अलर्ट पर है। 

बताया जाता है कि इस खुलासे के बाद नेपाल सरकार भी सख्त हो गई है। जमात से जुड़े लोगों के नेपाल में मौजूद होने और उनके कोरोना पॉजिटिव होने खबर के बाद वहां के मस्जिदों और मदरसों में उनकी तलाश की जा रही है। कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। 

एसएसबी के अलर्ट की जानकारी मिली है। सरकार चौकस है। पुलिस और एसएसबी को चौकसी बरतने के निर्देश देते हुए कहा गया है कि किसी को बिहार में नहीं आने दें। हमारी कोशिश है कि कोई नेपाल से प्रवेश नहीं कर सके। 
– आमिर सुबहानी, अपर मुख्य सचिव, गृह विभाग

इनपुट मिलने के बाद हमने चौकसी बढ़ा दी है। लॉक डाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जा रहा है। मित्र देश नेपाल की ओर से भी ऐसा ही किया गया है। उनके द्वारा फोर्स की संख्या बढ़ाई गई है। यह इनपुट एक अपराधी के संबंध में है जो कई मामलों में चार्जशीटेड है। 
– राजेश चंद्रा, डीजी, एसएसबी

नेपाल से लगे समी जिलों के प्रशासन को अलर्ट कर दिया गया है। पुलिस और एसएसबी पूरी तरह मुस्तैद है। किसी कोरोना पॉजिटिव के नेपाल से प्रवेश की अबतक कोई सूचना नहीं है। निगरानी रख रहे हैं। किसी को नहीं आने देंगे। 
– गुप्तेश्वर पाण्डेय, डीजीपी 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने मुजफ्फरपुर-पटना के बीच इलेक्ट्रिक बस की सेवा शुरू की

मुजफ्फरपुर: इस बस सेवा को लेकर यात्रियों में काफी कौतूहल देखा जा रहा है। साथ ही उम्मीद की …