Home ताजा खबर भारतीय नौसेना के 26 कर्मियों में संक्रमण की पुष्टि, सभी अस्पताल में भर्ती

भारतीय नौसेना के 26 कर्मियों में संक्रमण की पुष्टि, सभी अस्पताल में भर्ती

45 second read
0
0
198

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ रहे मामलों के बीच भारतीय नौसेना के 26 जवान कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, इन सभी संक्रमितों को इलाज के लिये मुंबई के कोलाबा में स्थित नेवी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इनमें से 20 सेलर मुंबई में आईएनएस आंग्रे पर तैनात थे। हालांकि इनमें से अधिकतर में कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण नहीं  दिख रहे थे।  गौरतलब है कि नौसेना में कोरोना संक्रमण का पहला मामला 7 अप्रैल को सामने आया था, एहतियातन इन संक्रमितों के संपर्क में आये अन्‍य लोगों का भी कोरोना परीक्षण करवाया जा रहा है।

इंडियन आर्मी के आठ जवान संक्रमित 

सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे ने शुक्रवार को बताया था कि ‘इंडियन आर्मी में से केवल आठ लोग कोरोना संक्रमित पाये गये  हैं। जिनमें आठ में से दो डॉक्टर और एक नर्सिंग असिस्टेंट हैं। चार संक्रमितों पर इलाज का असर दिखाई दे रहा है। सेना के जो जवान किसी कोरोना संक्रमितों के संपर्क में नहीं आए हैं, उन्हें वापस उनकी यूनिट में भेज दिया जाएगा।हमने पहले ही बंगलूरू से जम्मू और बंगलूरू से गुवाहाटी के लिए दो विशेषज्ञ ट्रेनों का इंतजाम किया हुआ है। भारतीय नौसेना के कर्मियों को ऐसे समय पर कोरोना हुआ है जब अमेरिकी नौसेना में इसके मामले बढ़ रहे हैं। 

अमेरिकन एयरक्राफ्ट कैरियर पर भी मिले कोरोना संक्रमित 

अमेरिका के यूएसएस थियोडोर रूजवेल्ट एयरक्राफ्ट कैरियर के 4,800 क्रू मेंबर्स में से 10 प्रतिशत से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं। यहां 500 लोग संक्रमित हैं जबकि 3,673 लोग संक्रमण मुक्त पाये गये हैं। उल्लेखनीय है कि रूजवेल्ट पर कोरोना संक्रमण को उजागर करने के कारण पर उसके कैप्‍टन को हटा दिया गया था। इस घटना के बाद भारत सतर्क हो गया था लेकिन बावजूद इसके पहले आर्मी और अब नेवी में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं।

वायरस मुक्त रहें युद्धपोत और पनडुब्बियां  

भारतीय नौसेना अध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह ने भी चिंता व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि हमें ये सुनिश्चित करना होगा की युद्धपोतों और पनडुब्बियों जैसी परिचालन संपत्तियां वायरस से मुक्त रहें और नौसेना हमेशा अपने सैनिकों के साथ देश की सेवा के लिए तैयार रहे। 

नौसेना अध्यक्ष ने कहा कि हमें अच्छी परिस्थितियों की आशा रखते हुए हमेशा बदतर के लिये तैयार रहना चाहिये, हमें सबसे खराब स्थिति के लिए तैयार रहने की जरूरत है, एक वाकई एक लंबी लड़ाई है। सशस्त्र बल कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए हरसंभव उपाय कर रहे हैं।

Load More By Bihar Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…