Home ताजा खबर नेशनल हाईवे पर 20 अप्रैल से फिर से शुरू होगी टोल वसूली, केंद्र से मिली मंजूरी

नेशनल हाईवे पर 20 अप्रैल से फिर से शुरू होगी टोल वसूली, केंद्र से मिली मंजूरी

0 second read
0
0
299

राष्ट्रीय राजमार्गों पर 20 अप्रैल से एकबार टोल की वसूली शुरू हो जाएगी। केंद्र सरकार ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को 20 अप्रैल से राष्ट्रीय राजमार्गों पर टोल की वसूली शुरू करने की अनुमति दी है।

बता दें कि लॉकडाउन के पहले चरण की समाप्ति के एक दिन बाद 15 अप्रैल से टोल वसूली का काम फिर फिर से शुरू करने की योजना बनाई गई थी। हालांकि, बाद में केंद्र की ओर से लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया था।फिर भी, गृह मंत्रालय ने कई आवश्यक उद्योगों को 20 अप्रैल से दोबारा शुरू करने के लिए छूट दी है।

गृह मंत्रालय ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को लिखे एक पत्र में कहा कि यह आगे बताया गया है कि टोल शुल्क संग्रह सरकारी खजाने में योगदान देता है और एनएचएआई को बजटीय सहायता के लिए वित्तीय ताकत भी प्रदान करता है। सभी ट्रकों और अन्य सामानों या वाहक वाहनों के अंतरराज्यीय और बाहरी राज्यों में आवाजाही के लिए गृह मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई ढील के मद्देनजर एनएचएआई को आदेशों के अनुपालन के लिए आवश्यक कार्रवाई करनी चाहिए। इसको देखते हुए टोल की वसूली 20 अप्रैल 2020 से फिर से शुरू किया जाएगा।

इस बीच, ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने केंद्र सरकार से टोल संग्रह (टोल वसूली) शुरू करने के फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा है।ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस(एआईएमटीसी) के अध्यक्ष कुलतारन सिंह अटवाल ने एक सख्त टिप्पणी में कहा कि सरकार को इस क्षेत्र पर कोई वित्तीय बोझ डालने से पहले अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए, जो पहले से ही अर्थव्यवस्था के तहत लॉकडाउन के कारण गिर गया है।

देशभर में कोरोना लॉकडाउन के चलते राजमार्गों पर सीमित यातायात तथा टोलकर्मियों के लिए जोखिम को देखते हुए केंद्र सरकार ने 25 अप्रैल रात 12 बजे से राष्ट्रीय राजमार्गों (NH) पर टोल बूथ बंद कर दिया था। इसके तहत फास्टैग सिस्टम को भी इस अवधि के दौरान निष्क्रिय कर दिया गया था।

Load More By Bihar Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…