Home बड़ी खबर एटीएम में पैसा डालने वाली कंपनी की एचआर कर्मी निकली पॉजिटिव, पटना में एक दिन के मिले 8 कोरोना संक्रमित

एटीएम में पैसा डालने वाली कंपनी की एचआर कर्मी निकली पॉजिटिव, पटना में एक दिन के मिले 8 कोरोना संक्रमित

4 second read
0
0
142

पटना का खाजपुरा मोहल्ला कोरोना को लेकर अति संवेदनशील हो गया है। एक साथ सात नए मरीज मिलने से इलाका हाई अलर्ट पर है। इस इलाके से पूरे शहर में संक्रमण का खतरा है, क्योंकि पांच संक्रमित एटीएम में पैसा डालने वाली एक एजेंसी में कर्मचारी हैं। यही कारण है कि खाजपुरा में फैल रहे कोरोना संक्रमण का वायरस शहर के कई मोहल्लों से जुड़ रहा है। तीन किलोमीटर के दायरे में प्रशासन का विशेष अलर्ट है और इसी क्षेत्र में मरीज भी मिल रहे हैं। इसी क्षेत्र से ही बुधवार को पचास से अधिक संदिग्धों को जांच के लिए क्वारंटाइन किया गया है। प्रशासन संक्रमण के दायरे के बढ़ने की आशंका को लेकर परेशान है, क्योंकि खाजपुरा के संक्रमित लगातार अलग-अलग लोगों के संपर्क में रहे हैं। बुधवार को पटना के साथ बिहार शरीफ, चम्पारण और भागलपुर में कोरोना के संक्रमित पाए गए हैं। 

डॉक्टर किए गए क्वारंटाइन
रामनगरी के एक निजी डॉक्टर को पाटलिपुत्रा अशोका होटल में क्वारंटाइन किया गया है। डॉक्टर ने मंगलवार को मिले संक्रमित का इलाज किया था। बाद में ऐसी सूचना भी मिली कि बुधवार को मिले संक्रमितों का इलाज भी इसी डॉक्टर के क्लीनिक पर हुआ था। डॉक्टर का नमूना जांच के लिए भेजा गया है। 

एचआर मैनेजर भी निकली संक्रमित
खाजपुरा में मंगलवार को संक्रमित मिला युवक एटीएम में पैसा डालने वाली कंपनी में एचआर मैनेजर था। बुधवार को भी संक्रमित के साथ काम करने वाली एचआर मैनेजर भी संक्रमित पाई गई है। साथ ही तीन अन्य लोग भी संक्रमित पाए गए हैं जो एजेंसी से जुड़े हुए थे। बताया जा रहा है कि एचआर का काम करने वाले युवक ने मोहल्ले के साथ आसपास के दर्जनों लोगों की नौकरी लगवाई है। स्वास्थ्य विभाग संक्रमित कर्मियों के संपर्क में आने वाले अन्य कर्मचारियों की जांच कराने में जुटा है। आशंका है कि इस एजेंसी से ही संक्रमण खाजपुरा तक पहुंचा है।

पटना के एक हजार एटीएम पर खतरा
शहर के एक हजार एटीएम में संक्रमण का खतरा है। जिस कंपनी के दो एचआर मैनेजर संक्रमित पाए गए हैं, वहां दो सौ कर्मचारी काम करते हैं। इस एजेंसी से शहर के 32 रूटों पर स्थित एक हजार से अधिक एटीएम में पैसा डाला जाता है। यहां 43 गन मैन, 40 वाहन चालक, 64 कर्मी काम करते हैं। सूत्रों की मानें तो पैसा डालने से लेकर अन्य कर्मचारियों के लिए सैनिटाइजर व मास्क की व्यवस्था नहीं थी। बुधवार तक गाड़ियों के सैनिटाइजेशन की भी व्यवस्था नहीं की गई थी। स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन एटीएम के साथ गाड़ियों के रूट व एजेंसी से जुड़ी अन्य जानकारी जुटाने में लगे हैं।

खाजपुरा को प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित कर दिया गया है। एक ही मोहल्ले में 7 कोरोना पॉजिटिव मिलने से पूरी तरह से चौकसी बढ़ा दी गई है। कोई भी मनमानी करते हुए पाया गया तो उसके विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।
-कुमार रवि, डीएम, पटना

कोरोना अपडेट
– संक्रमित का इलाज करने वाले निजी अस्पताल के डॉक्टर का लिया गया नमूना। 
– खाजपुरा के संक्रमितों के संपर्क में आए 78 लोगों का लिया गया नमूना।
– पीएमसीएच के ट्रीटमेंट वार्ड से कोरोना के तीन संदिग्ध मरीज फरार, मुकदमा दर्ज।
– पीएमसीएच में बुधवार को आधा दर्जन संदिग्ध मरीज भर्ती किए गए।
– बिहारशरीफ और चंपारण से एक-एक संदिग्ध की रिपोर्ट आई पॉजिटिव
– भागलपुर से बुधवार को 4 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, एक संक्रमित बांका में मिला।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जदयू के खिलाफ़ बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने की बयानबाज़ी, कही ये बात, पढ़ें

बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरुआत हो गई है। 30 जून तक चलने वाले सत्र में स…