Home बड़ी खबर कोरोना संकट में गन्ना किसानों को राहत, सरकार ने चीनी मिलों से उनका 934 करोड़ भुगतान करने को कहा

कोरोना संकट में गन्ना किसानों को राहत, सरकार ने चीनी मिलों से उनका 934 करोड़ भुगतान करने को कहा

0 second read
0
0
215

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने निजी क्षेत्र के सभी 11 चीनी मिलों से कोरोना महामारी के संकटपूर्ण समय में गन्ना किसानों के बकाए राशि का भुगतान करने को कहा है। बतादें कि, किसानों का चीनी मिलों पर पेराई सत्र 2019-20 का गन्ना मद में 934.34 करोड़ राशि बकाया है। ऐसे समय में बकाए के भुगतान से राज्य के गन्ना उत्पादक किसानों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी।

बकाए 934.34 करोड़ का भुगतान बाकी

गत पेराई सत्र में राज्य के निजी क्षेत्र की सभी चीनी मिलों ने 675 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई की। इसका मूल्य 2036.23 करोड़ में से 1101.88 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है। शेष बकाए 934.34 करोड़ का भुगतान बाकी है।

सुशील कुमार मोदी ने बताया कि भारत सरकार के उपक्रम हिन्दुस्तान पेट्रोलियम की इकाई एचपीसीएल बायो फ्यूल्स लिमिटेड द्वारा संचालित लौरिया व सुगौली चीनी मिल द्वारा अब तक मात्र 10 से 12 प्रतिशत गन्ना मूल्य का ही भुगतान किया गया है। उन्होंने लौरिया चीनी मिल पर किसानों के बकाए 80.36 करोड़ व सुगौली पर 58.84 करोड़ के अविलम्ब भुगतान के लिए केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान से भी आग्रह किया है।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में मौसम हुआ सुहाना, 14 जिलों में जारी किया येलो अर्लट

 उत्तरी बिहार में पुरवा के कारण मौसम सुहाना बना है। सूबे के दक्षिणी भाग में शुष्क हवा…