Home बड़ी खबर केजरीवाल अस्पताल को सील करने की वायरल खबर, जानिए सच्चाई…

केजरीवाल अस्पताल को सील करने की वायरल खबर, जानिए सच्चाई…

2 second read
Comments Off on केजरीवाल अस्पताल को सील करने की वायरल खबर, जानिए सच्चाई…
0
254

केजरीवाल अस्पताल में भर्ती दो माह के बच्चे की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। निजी अस्पताल में आने वाले सर्दी-खांसी व गंभीर रूप से हृदय रोग वाले मरीजों की तलाश व नमूना संग्रह कर जांच कराई जा रही है। इसी कड़ी में केजरीवाल अस्पताल से भी जांच के लिए नमूने भेजे गए थे। इस बीच दिनभर यह खबर वायरल होती रही कि केजरीवाल अस्पताल को सील कर दिया गया है। सिविल सर्जन डॉ.एसपी सिंह से कई वरीय अधिकारी स्तर से जानकारी ली गई कि केजरीवाल का क्या मामला है? सीएस ने जब अपने स्तर से पड़ताल की तो पता चला कि प्रबंधन ने कहीं से भी अस्पताल को सील नहीं किया है। वहां छोटा बच्च भर्ती था।

 रूटीन सर्वे में उसका भी नमूना लिया गया था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। वह बच्चा या उसके स्वजन न तो बाहर से आए थे और न किसी भी कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में थे। इधर केजरीवाल के कार्यालय प्रभारी रंजन कुमार मिश्र ने कहा कि उनके अस्पताल में आउटडोर लॉकडाउन के निर्देश के मुताबिक पहले से बंद है। केवल इमरजेंसी सेवा चल रही है। यहां जो भी मरीज आ रहे उनको इलाज व डिलीवरी की सेवा दी जा रही है। कहा कि वह भी अस्पताल को सील करने की अफवाह से दिनभर परेशान रहे। कहीं से ऐसी कोई बात नहीं थी। सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक जो भी मरीज गंभीर रूप से सर्दी-खांसी के आ रहे उनकी जांच कर एक प्रारूप भरकर जिला कंट्रोल रूम को भेजा जा रहा है।

एसकेएमसीएच व सदर अस्पताल में नमूने किए गए संग्रहित

एसकेएमसीएच में 21 लोगों की स्क्रीनिंग कर दो लोगों के नमूने संग्रहित किए गए। अधीक्षक डॉ.सुनील कुमार शाही ने बताया कि अब तक उनके अस्पताल में 243 नमूने संग्रहित किए गए थे। सबकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। इधर जिला कंट्रोल रूम के नोडल पदाधिकारी डॉ.सीके दास ने बताया कि सदर अस्पताल में 165 लोगों की स्क्रीनिंग व पांच लोगों के नमूने संग्रहित किए गए।

पहले से 53 नमूने संग्रहित कर जांच को भेजे गए थे, जिसमें 45 की रिपोर्ट आ गई है। ये सभी निगेटिव हैं। उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल में नमूना संग्रह के लिए लैब टेक्नीशियन उमेश कुमार, मुकेश आनंद, मोअत्तर अंजुम, मुकेश कुमार, अमर चंद्र सिंह व रामबाबू को प्रशिक्षण दिया गया है। सभी पाली के हिसाब से काम कर रहे हैं।

 सिविल सजर्न डॉ.एसपी सिंह ने कहा कि जिला ग्रीन जोन में चल रहा है। इसके बावजूद हर स्तर पर जांच और जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। गुरुवार को जो भी नमूनों की रिपोर्ट आई, सभी निगेटिव हैं।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर
Comments are closed.

Check Also

तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय की आज मुलाकात, तलाक की बात पर होगी चर्चा ! पढ़ें

ऐश्वर्या राय के तलाक के मुकदमे में आज अहम सुनवाई का दिन है। आज दोनों के बीच मुलाकात होगी। …