Home झारखंड झारखंड के सबसे बड़े हॉटस्पॉट से रोजाना मिल रहे मरीज, लेकिन जांच के लिए नहीं आ रहे सामने

झारखंड के सबसे बड़े हॉटस्पॉट से रोजाना मिल रहे मरीज, लेकिन जांच के लिए नहीं आ रहे सामने

0 second read
0
0
303

कोरोना वायरस की महामारी का कहर जारी है। अभी फिलहाल झारखंड के हॉटस्पॉट जिला हिंदपीढ़ी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बड़ती जा रही है। फिलहाल हिंदपीढ़ी में 45 पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। खबरों के मुताबिक, सबसे बड़ा खतरा आम लोग को होने वाला हैं, जो लोग कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आ चुके हैं।

आपको बतादें कि, हाई रिस्क कॉन्टैक्ट में आए इन लोगों के बारे में कोई जानकारी प्रशासन के पास नहीं है। यही कारण है कि न इन्हें क्वारेंटाइन किया जा सका है और न ही सैंपलिंग। स्वास्थ्य विभाग की अोर से तैयार कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग लिस्ट के अनुसार, इन लोगों के कारण संक्रमितों की संख्या में अप्रत्याशित तेजी आ सकती है। महत्वपूर्ण बात यह है कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग से मात्र 17 संक्रमित ही मिले हैं। बाकी 28 संक्रमित सैंपल देने के लिए खुद अागे आए। 31 मार्च को मलेशियाई महिला के पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने हिंदपीढ़ी को कंटेनमेंट जोन में शामिल कर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कराई। इसमें शामिल 832 घरों के हाई रिस्क और लो रिस्क कॉन्टैक्ट वाले 242 लोगों की ही जांच अब तक हो सकी है। 

बेड़ो पहुंचा संक्रमण, 19 दिन के बाद पता चला
मलेशियाई महिला से पहले नाला राेड का एक परिवार संक्रमित हुअा। उस परिवार के बुजुर्ग के संपर्क से कुर्बान चौक के 3 लोग संक्रमित हुए। फिर हिंदपीढ़ी के अन्य इलाकों में फैला। बेड़ो का पहला संक्रमित मलेशियाई महिला के सीधे संपर्क में आया था, जिसका पता 19 दिन बाद चला।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में बिजली गिरने से 16 की मौत, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोक

बिजली गिरने से प्रदेश के सात जिलों में 16 लोगों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरा …