Home पटना पीएमसीएच में गर्भवती महिला के संक्रमित होने की आशंका पर बवाल, कोरोना से घबराए डॉक्टर बोले- अब हम घर नहीं जाएंगे

पीएमसीएच में गर्भवती महिला के संक्रमित होने की आशंका पर बवाल, कोरोना से घबराए डॉक्टर बोले- अब हम घर नहीं जाएंगे

2 second read
0
0
148

पीएमसीएच में शनिवार की रात प्रसव पीड़ा से कराह रही एक महिला भर्ती हुई। मृत बच्चे को जन्म देने के साथ ही महिला में कोरोना के लक्षण दिखाई देने लगे। यह देख प्रसूति विभाग के डॉक्टरों के होश उड़ गए। सुबह होते ही महिला के संपर्क में आए आधा दर्जन से अधिक डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मियों का नमूना जांच के लिए भेज दिया गया। इस घटना के बाद डॉक्टरों ने घर जाने से मना कर दिया। दहशत और बढ़ गई जब यह पता चला कि महिला का पति कोरोना संक्रमित है और वह एनएमसीएच में भर्ती है।

यह पहला मामला नहीं है, दो दिन पूर्व गुजरी वार्ड में आधा दर्जन डॉक्टर तीन संक्रमितों के संपर्क में आ गए थे। पीएमसीएच में मचे बवाल के बीच कोरोना के नोडल अफसर डॉ पीएन झा ने मामला उठाया और कहा डॉक्टरों में संक्रमण से मरीजों की बड़ी चेन बन सकती है। दबाव के बाद प्रिंसिपल ने डीएम को फोन पर डॉक्टरों की मांग बताई। डीएम ने आश्वासन दिया है कि गांधी मैदान के आसपास डॉक्टरों के रहने के लिए होटल की व्यवस्था कराई जाएगी। पीएमसीएच में ऐसे दो दर्जन डॉक्टर हैं जो घर जाने को तैयार नहीं हैं। हालांकि देर रात महिला की रिपोर्ट निगेटिव आ गई,फिर भी डॉक्टर दहशत में हंै।  

पति का आरोप-पत्नी को अस्पताल से हुआ संक्रमण
वैशाली की एक महिला शनिवार को संक्रमित पाई गई। वह 24 अप्रैल को पटना में आईजीआईएमएस के गैस्ट्रो वार्ड में भर्ती हुई थी। डॉक्टरों ने जांच के बाद 28 अप्रैल को ऑपरेशन की तारीख दी थी। इस बीच आईजीआईएमएस से भागने वाला सारण का मरीज भी भर्ती था। ऐसे में संक्रमित महिला के पति ने आरोप लगाया है कि पत्नी को संक्रमण आईजीआईएमएस से हुआ है। महिला एक माह से कहीं नहीं गई है, सिर्फ वह इलाज के लिए पटना आई थी।

पीएमसीएच में हुआ था इलाज
आईजीआईएमएस से फरार कोरोना संक्रमित का इलाज पीएमसीएच में किया गया था। यह खुलासा सारण में पकड़ में आने के बाद मरीज ने किया है। बताया जा रहा है कि नौ अप्रैल को वह पीएमसीएच में भर्ती था, इसके बाद वह 15 अप्रैल को आईजीआईएमएस गया था। इस बीच पीएमसीएच में उसका इलाज कैसे हुआ और कौन लोग उसके संपर्क में आए इसकी जानकारी जुटाई जा रही है। सारण के सिविल सर्जन से जानकारी मिलने के बाद पीएमसीएच में डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारंटाइन करने की तैयारी चल रही है।

प्रसूति विभाग में महिला में लक्षण पाया गया था। पूर्व में भी कुछ डॉक्टर संक्रमित के संपर्क में आ गए थे। ऐसे डॉक्टरों के लिए होटल की व्यवस्था की जा रही है। इस संबंध में डीएम से बात हो गई है। -डॉ विद्यापति, प्राचार्य, पीएमसीएच 

Load More By Bihar Desk
Load More In पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…