Home पटना पटना एयरपोर्ट के 5 सफाईकर्मी संक्रमित, 2 साल के मासूम को भी हुआ कोरोना

पटना एयरपोर्ट के 5 सफाईकर्मी संक्रमित, 2 साल के मासूम को भी हुआ कोरोना

6 second read
0
0
249

पटना। पटना में सोमवार को छह लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें चार एयरपोर्ट के सफाईकर्मी हैं। जब इन चारों के बारे में जानकारी जुटाई गई तो दो दिन पहले खाजपुरा में मिले एक संक्रमित का खुलासा हुआ। यह संक्रमित भी एयरपोर्ट पर सफाईकर्मी है। इसके अलावा सोमवार को दिल्ली से लौटे एक युवक और आईजीआईएमएस में भर्ती दो साल के मासूम बच्चे में भी कोरोना की पुष्टि हुई है।

कोरोना का संक्रमण पटना एयरपोर्ट तक पहुंच गया है। संक्रमण के तार खाजपुरा से जुड़ रहे हैं। दो दिन पूर्व खाजपुरा के कुछ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जब इन लोगों के बारे में जानकारी जुटाई गई तो एक युवक ने बताया कि वह एयरपोर्ट पर सफाईकर्मी है। स्वास्थ्य विभाग टीम ने तुरंत एयरपोर्ट के 40 से अधिक लोगों के नमूने जांच के लिए भेज दिए। सोमवार को जब रिपोर्ट आई तो चार लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इसमें तीन एयरपोर्ट पर सफाईकर्मी हैं, बाकी एक सफाई सुपरवाइजर है। संक्रमित सफाईकर्मी पटना के अलग-अलग क्षेत्रों के रहने वाले हैं। 

स्वास्थ्य विभाग की पड़ताल में सामने आया है कि लॉक डाउन के बाद से एयरपोर्ट बंद हैं, लेकिन एयर इंडिया का कार्यालय खुला हुआ है। साफ सफाई हर दिन होती है और यही कारण है कि अलग-अलग क्षेत्रों में रहने वाले सफाईकर्मी प्रतिदिन एयरपोर्ट जाते थे। ऐसे में आशंका संक्रमण की बड़ी चेन को लेकर है। चारों संक्रमितों के परिजनों के साथ एयरपोर्ट पर काम करने वाले अन्य कर्मियों का भी नमूना जांच के लिए भेजा जाएगा। संक्रमण की सूचना मिलने के बाद प्रशासन ने राजाबाजार, न्यू पाटलिपुत्रा कॉलोनी, बेली रोड में बीपीएससी के पीछे वाले इलाके को सील कर दिया है। संक्रमित पाए गए सफाईकर्मियों की  ट्रैवल हिस्ट्री खंगाली जा रही है। वे इस दौरान किसके संपर्क में आए थे, इसका सुराग लगाया जा रहा है। 

दो साल का मासूम भी निकला पॉजिटिव
आईजीआईएमएस में एक दो साल के बच्चे में कोरोना का संक्रमण पाया गया है। नौबतपुर के मासूम की आंखों में समस्या थी। पहले बिहटा में इलाज कराया गया, बिहटा में ही बड़े मेडिकल संस्थान में उपचार के बाद उसे पटना एम्स रेफर कर दिया गया। एम्स से उसे आईजीआईएमएस रेफर कर दिया गया। परिजनों ने बच्चे को आईजीआईएमएस में भर्ती कर दिया। डॉक्टरों ने सलाह दी कि बच्चे की आंखें निकालनी पड़ेंगी। ऑपरेशन के पूर्व जांच में कोविड-19 की जांच कराई गई। बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। प्रशासन ने बिहटा के अस्पताल के साथ उसके घर व ननिहाल को सील कर दिया है। मासमू के संपर्क में आने वालों की तलाश की जा रही है।

टूटा रिकॉर्ड, 24 घंटे में 69 पॉजिटिव मिले
कोरोना के संक्रमण का रिकॉर्ड सोमवार को टूट गया। 24 घंटे में कुल 69 मामले सामने आए हैं। मधुबनी में पहली बार पांच संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा दरभंगा और पूर्णिया में भी एक-एक पॉजिटिव पाए गए हैं। यह तीनों जिले अब तक संक्रमण से अछूते थे। सोमवार को मुंगेर में सबसे अधिक 22 और रोहतास में 16 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। औरंगाबाद में पांच और भोजपुर में सात नए मामले सामने आए हैं। सोमवार को संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी देख स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित जिलों में संक्रमण के चेन की पड़ताल के साथ नेटवर्क को तोड़ने को लेकर गाइडलाइन जारी की है। 

शहर के कई और इलाके किए गए सील
न्यू पाटलिपुत्रा में रहने वाले युवक में संक्रमण पाए जाने के बाद इलाके को सील कर दिया गया है। युवक दिल्ली के एक निजी कॉलेज में पढ़ाई करता है। लॉक डाउन के पहले वह ट्रेन से पटना आया था। इसके अलावा एयरपोर्ट के सफाईकर्मी जिन इलाकों में रहते हैं, उन्हें भी सील कर दिया गया है। अब पटना में राजा बाजार, मछली गली, डाक बंगला, खाजपुरा, पटेल नगर, जगदेव पथ इलाका पूरी तरह से सील है। फुलवारी और नौबतपुर में भी संक्रमित के मोहल्ले को सील कर दिया गया है। प्रशासन ने इन इलाकों को संवेदनशील घोषित कर दिया है।

पटना एयरपोर्ट से लेकर नौबतपुर में कोरोना के संक्रमित पाए गए हैं। संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का नमूना लेकर जांच के लिए भेजा गया है। परिजनों के साथ संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है।  
– डॉ राज किशोर चौधरी, सिविल सर्जन, पटना

Load More By Bihar Desk
Load More In पटना

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर सीएम नीतीश ने दी बधाई, कही ये बात, पढ़ें

बिहार के सीएम ने  बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर प्रदेश एवं देशवासियों को बिहार के रा…