Home झारखंड रांची कोरोना से जंग / राजधानी में सड़कों पर पसरा सन्नाटा, सब्जी बाजारों में भी कम पहुंचे खरीदार

कोरोना से जंग / राजधानी में सड़कों पर पसरा सन्नाटा, सब्जी बाजारों में भी कम पहुंचे खरीदार

5 second read
0
0
295

रांची. लॉकडाउन-2 की समाप्ति का समय नजदीक आ रहा है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि लॉकडाउन समाप्त होगा या फिर इसकी अवधी बढ़ाई जाएगी। पर राजधानी रांची में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में पुलिस-प्रशासन ने रांची से लगने वाले सारे जिलों की सीमाएं सील कर दी गई है। इधर, अब लोग भी जागरूक दिख रहे हैं और लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कर रहे हैं। शुक्रवार को सड़कों पर अन्य दिनों की अपेक्षा काफी कम लोग घरों से बाहर निकले। सब्जी बाजारों में भी काफी लोग नजर आए। तेज धूप और गर्मी की वजह से भी लोग घरों से बाहर निकलने से परहेज किया। पुलिस ने पूरे शहर में सख्ती बढ़ा दी है।

वहीं, गुरुवार को मिले कोरोना संक्रमित मरीजों में एक रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग का एक टेक्नीशियन भी शामि है। हालांकि इसके बावजूद अभी रिम्स में कोरोना की जांच जारी रहेगी। रिम्स निदेशक डॉ दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि शुक्रवार को माइक्रोबायोलॉजी विभाग के डॉक्टरों और सभी टेक्नीशियन का सैंपल लिया जाएगा। आईसीएमआर से गाइडलाइन मांगी जाएगी कि वर्तमान परिस्थिति में क्या किया जाए।आईटीआई बस स्टैंड के पास सीमा सील किया गया है। यहां जरूरी सेवा से जुड़े वाहनों को ही जाने की अनुमति मिल रही है।

घर-घर होगा सर्वे
इधर, राज्य के हॉट स्पॉट हिंदपीढ़ी से सटे इलाकों में घर-घर जाकर कोरोना संक्रमण की जांच के आदेश दिए गए हैं। स्वास्थ्य सचिव नितिन मदन कुलकर्णी ने रांची डीसी को निर्देश दिया है हिंदपीढ़ी के सीमावर्ती इलाकों पीपी कंपाउंड, कडरू, अपर बाजार और कोनका टोली में घर-घर जाकर व्यक्तियों का सामुदायिक सर्वेक्षण किया जाए। ताकि एसिम्प्टोमैटिक मरीजों की पहचान हो सके। सीएचओ, एनएम, सहिया, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं प्रशिक्षित स्वयंसेवकों के माध्यम से तीन दिनों के भीतर सर्वेक्षण कार्य पूरा कराया जाए।

हिंदपीढ़ी में भी फिर से कराएं सर्वेक्षण
स्वास्थ्य सचिव ने हिंदपीढ़ी में भी फिर से सामुदायिक सर्वेक्षण शुरू कराने को कहा है। इसके लिए पोलियो माइक्रोप्लान के तहत टीम तैयार करने को कहा गया है। सर्वेक्षण टीम का नेतृत्व चिकित्सा पदाधिकारी करेंगे। यह काम पांच दिनों में पूरा किया जाएगा।

हिंदपीढ़ी में मजदूरों के नहीं जाने से गंदगी फैली
उधर, कोरोना हॉटस्पॉट हिंदपीढ़ी में अब डायरिया-मलेरिया फैलने की आशंका बढ़ गई है, क्योंकि यहां कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद सफाईकर्मी जाने से परहेज कर रहे हैं। इस कारण पूरे क्षेत्र में जगह-जगह कूड़े का अंबार लग गया है। मुहल्ले की नालियां बजबजा रही हैं। दुर्गंध से लोग परेशान हैं।

Load More By Bihar Desk
Load More In रांची

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जदयू के खिलाफ़ बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने की बयानबाज़ी, कही ये बात, पढ़ें

बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरुआत हो गई है। 30 जून तक चलने वाले सत्र में स…