Home झारखंड रांची Coronavirus Update: बिगड़ैल कोरोना पॉजिटिव ने पुलिस को मारे पत्‍थर, डिस्‍चार्ज होते ही भेजा जेल

Coronavirus Update: बिगड़ैल कोरोना पॉजिटिव ने पुलिस को मारे पत्‍थर, डिस्‍चार्ज होते ही भेजा जेल

6 second read
0
0
290

रांची, जासं। Coronavirus Cases in Ranchi  रांची के हिंदपीढ़ी में पुलिस व मेडिकल टीम पर हमला व पथराव महंगा पड़ा। इनके खिलाफ पुलिस ने सख्त रवैया अपनाते हुए जेल भेज दिया है। जेल भेजे गए आरोपितों में एक संक्रमण के बाद ठीक हो चुका मरीज भी शामिल है। यह वही मरीज जिसे रिम्स के कोविड वार्ड में भर्ती किए जाने के लिए बीेत 13 अप्रैल को सबसे पहले एंबुलेंस में बैठाया गया था। इसके बाद बवाल शुरू हो गया था। इस मरीज का नाम मो. मोफीज है। इसके अलावा मो. एकराम और मो. सलीम जेल भेजा गया है। मोफीज को तब जेल भेजा गया, जब रिम्स में दोबारा हुई कोरोना जांच में रिपोर्ट निगेटिव निकला। रिम्स से डिस्चार्ज करते ही उसे जेल भेज दिया गया।

मामले में फरार अन्य आरोपितों की तलाश चल रही है। इस घटना में इनमें भीड़ को उकसाने वाले जमील खान, शादाब खान के अलावा मो. सलीम, मो. परवेज, मो. शमशेर व मो. हाशिम को नामजद आरोपित बनाया गया था। इनके अलावा 500 अन्य अज्ञात पर भी केस दर्ज किया गया है। जिनकी तलाश जारी है। इस घटना को लेकर हिंदपीढ़ी थाना के दारोगा प्रशिक्षा दारोगा बाजो रजक के बयान पर केस दर्ज किया गया था। हिंदपीढ़ी थाना प्रभारी ज्ञान रंजन सिंह ने बताया कि बवाल करने में शामिल रहे, सभी को जेल भेजा जाएगा।

एंबुलेंस में की थी तोड़फोड़, मेडिकल टीम को खदेड़ दिया था

13 अप्रैल की रात करीब सवा 11 बजे समुदाय विशेष को फंसाने और झूठा इलाज कराने का आरोप लगा भीड़ उग्र हो गई थी। हिंदपीढ़ी स्थित मंटू चौक में गई मेडिकल और पुलिस की टीम को निशाना बनाते हुए खदेड़ दिया था। एंबुलेंस में तोड़फोड़ की गई थी। वहां मेडिकल व पुलिस की टीम कोरोना संक्रमित को लेने गई थी, कोरोना संक्रमित को एंबुलेंस से भेजा जा चुका था। उनके परिवार के अन्य छह सदस्यों को समझा-बुझाकर एंबुलेंस में बैठाया गया था। इसी दौरान संक्रमित के तीनों भाईयों ने हंगामा शुरू कर दी थी।

इस दौरान मंटू चौक व राईन मस्जिद की तरफ से करीब 300 लोग जमील खान सदाब खान के उकसावे पर लाठी डंडे लेकर निकले व झूठा इलाज का आरोप लगाते हुए प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान तीनों मरीज को एंबुलेंस से उतारकर घर ले गए और पुलिस बल पर पथराव कर दिया। लाेग समुदाय विशेष के लोगों को फंसाने का आरोप लगाने लगे। देर रात तक वहां हंगामा जारी रहा। यहां के बाद कुर्बान चौक पर मरीजों को लेने गई टीम पर भी हमला किया गया और जमकर हंगामा किया था। इस दौरान मेडिकल टीम को लौटना पड़ा था। एसएसपी अनीश गुप्ता के समझाने-बुझाने के बाद कोरोना संक्रमित कोविड-19 वार्ड भेजे जा सके थे।

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ है केस

आइपीसी की धारा 147, 188, 109, 269, 270, 337, 427, 353, 153-ए, 504, एपिडेमिक डीजीज एक्ट की सेक्शन 3, द नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की सेक्शन 51 और 54 के तहत केस दर्ज किया गया है।

Load More By Bihar Desk
Load More In रांची

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में मौसम हुआ सुहाना, 14 जिलों में जारी किया येलो अर्लट

 उत्तरी बिहार में पुरवा के कारण मौसम सुहाना बना है। सूबे के दक्षिणी भाग में शुष्क हवा…