Home सियासत तेजस्‍वी का सीएम नीतीश पर हमला: कहा- पहले मैंने जो-जो कहा, अब वही-वही कर रही है सरकार

तेजस्‍वी का सीएम नीतीश पर हमला: कहा- पहले मैंने जो-जो कहा, अब वही-वही कर रही है सरकार

0 second read
0
0
286

पटना। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने लॉकडाउन के 40 दिनों के क्रियाकलापों को विफल बताया और कहा कि अभी तक वह जो-जो कहते आ रहे हैं, वही सबकुछ सरकार को बाद में करना पड़ रहा है। अगर मेरी बात को पहले ही मान लिया जाता तो आज ऐसी दशा नहीं होती।

राजद नेता ने कहा कि सरकार का एजेंडा मेरे सकारात्मक सुझावों के उल्टा करने का रहा। सबसे पहले मैंने 30 मार्च को सभी कामगारों को विशेष ट्रेन से वापस बुलाने की मांग की थी। उस वक्त जो भी लौटे थे, उनमें कोई भी पॉजि़टिव नहीं था, किंतु सरकार ने हमारी बात नहीं सुनी। उल्टे बचकाना कह कर ख़ारिज कर दिया। फिर मैंने दूसरे लॉकडाउन के शुरू होते ही 15 अप्रैल को भी ट्रेन चलाने का आग्रह किया, लेकिन मेरा मज़ाक़ उड़ाया गया। अब सरकार ने ट्रेन चलाने की मांग की है। 

सरकार पर उलझन में होने का आरोप लगाते हुए तेजस्वी ने कहा कि कभी ट्रेन बंद कराने की मांग करती है तो कभी चलवाने की। कभी गाइडलाइन का हवाला देकर प्रवासियों की वापसी का विरोध तो कभी लाने पर सहमत होती है। ट्रेन शुरू होती है तो कोई व्यवस्था नहीं होती है। तेजस्वी ने कहा कि मैंने राजद की ओर से दो हजार बसें देने की पेशकश की थी। टेस्टिंग और सुरक्षा उपकरण बढ़ाने की मेरी मांगों को भी सरकार अनसुनी करती रही।

गौरतलब है क‍ि काफी हीलाहवाली के बाद जयपुर से मजदूरों का एक जत्‍था शनिवार को श्रमिक ट्रेन से बिहार पहुंच गया। इसमें सभी कामगारों को सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करते हुए लाया गया। इसमें लगभग 1200 मजदूर सवार थे। बताया जाता है कि और भी कई ट्रेनें आने वाली हैं। ऐसी ही ट्रेनें कोटा से भी आएंगी। बता दें कि कोटा से छात्रों को लाने को लेकर सियासत भी खूब हुई। बाद में भारत सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी की गई, तब जाकर दूसरे प्रदेशों में फंसे कामगारों व छात्रों का बिहार आना संभव हो सका है। 

Load More By Bihar Desk
Load More In सियासत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…