Home बड़ी खबर ग्रामीण कार्य विभाग के तीन अभियंता किए गए होम क्वारंटाइन, सचिव ने संपर्क में आए लोगों की मांगी सूची

ग्रामीण कार्य विभाग के तीन अभियंता किए गए होम क्वारंटाइन, सचिव ने संपर्क में आए लोगों की मांगी सूची

0 second read
0
0
128

पटना। ग्रामीण कार्य विभाग ने अपने तीन अभियंताओं को होम क्वारंटाइन कर दिया है। इनमें दो मुख्यालय में तैनात मुख्य अभियंता और एक उत्तर बिहार के अधीक्षण अभियंता हैं। यह कार्रवाई आरा के जिस संवेदक के चलते हुई है, उनके काम को अगले आदेश तक रोक दिया गया है। उनके वाहन के पास रद कर दिए गए हैं।

विभाग के सचिव विनय कुमार के हस्ताक्षर से जारी आदेश में इन अभियंताओं के संपर्क में आए कर्मचारियों को भी होम क्वारंटाइन में रहने का आदेश दिया गया है। उन्होंने ऐसे कर्मचारियों की सूची भी मांगी है। सचिव ने विभाग के उन प्रमंडलीय कार्यालयों का भी ब्योरा तलब किया है, जहां इस अवधि में संवेदक का आना जाना हुआ है। 

मालूम हो कि आरा के एक  संवेदक 27 अप्रैल को ग्रामीण कार्य विभाग के मुख्यालय आए थे। उन्होंने दो मुख्य अभियंताओं से मुलाकात की। उस समय उत्तर बिहार के एक अधीक्षण अभियंता भी कार्यालय में बैठे थे। बाद में पता चला कि संवेदक के पुत्र का कोरोना टेस्ट पाजिटिव निकला है। पत्र के मुताबिक आरा के संवेदक ने पटना के अलावा आरा और बक्सर स्थित विभागीय कार्यालय की यात्रा की थी। विभागीय स्तर पर जांच हो रही है कि इस क्रम में वे कितने लोगों के संपर्क में आए। उनके संपर्क में आए सभी कर्मियों के होम क्वारंटाइन में जाने का आदेश दे दिया गया है। 

सचिव के आदेश के मुताबिक संबंधित संवेदक का डुमरांव, फारबिसगंज, बक्सर, खगडिय़ा, सहरसा, त्रिवेणीगंज तथा तेघड़ा में काम चल रहा है। उनके सभी काम बंद कर दिए गए हैं और विभाग की ओर से निर्गत किए गए वाहन पास रद कर दिए गए हैं। सचिव ने सभी अभियंताओं को कहा है कि अपवाद को छोड़कर बाहरी आदमी के कार्यालय में आने पर रोक लगा दें। 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जदयू के खिलाफ़ बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने की बयानबाज़ी, कही ये बात, पढ़ें

बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरुआत हो गई है। 30 जून तक चलने वाले सत्र में स…