Home बड़ी खबर जिला सीमा पर सख्त हुआ पहरा, चेक पोस्टों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

जिला सीमा पर सख्त हुआ पहरा, चेक पोस्टों पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

2 second read
0
0
206

मुंगेर। कोरोना संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए अब जिले की सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। जिले में प्रवेश करने वाली सभी सीमाओं को सील कर यहां पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। एसपी लिपि सिंह ने खुद रविवार सुबह को इन चेक पोस्टों का निरीक्षण किया।

मुंगेर जिले से लगने वाले भागलपुर, बांका और लखीसराय जिलों की सीमा पर बने चेक पोस्टों के निरीक्षण के दौरान एसपी ने सभी चेक पोस्ट पर तैनात पुलिस पदाधिकारियों को अतिरिक्त चौकसी बरतने तथा हर गाड़ी की चेकिंग करने के निर्देश दिए। एसपी ने कहा कि जिले में प्रवेश करने वाली सभी गाडिय़ों की गहनता से जांच करें और उसका रिकॉर्ड संधारित करें। मुंगेर जिले में जो भी गाड़ी प्रवेश करेगी, उसका डेटाबेस तैयार किया जाएगा। एसपी ने हेमजापुर ओपी, बरियारपुर थाना, संग्रामपुर थाना, असरगंज थाना, गंगटा थाना क्षेत्रों में चेक पोस्टों का स्थल निरीक्षण कर पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

कुछ सीमाई चेक पोस्टों पर सीसीटीवी कैमरे और रोशनी की व्यवस्था नहीं थी। एसपी ने बताया कि इस समस्या से डीएम को अवगत कराया गया है। इस दौरान एएसपी हरिशंकर कुमार, कासिम बाजार थानाध्यक्ष शैलेश कुमार व स्वयंप्रभा आदि मौजूद थीं। इसके पहले भी लगातार जिला सीमा पर अधिकारी लगातार अधिकारियों ने निरीक्षण किया था।

शत प्रतिशत प्रवासी मजदूरों की कराएं जांच

प्रमंडलीय आयुक्त वंदना किनी ने कोबिड-19 के संक्रमण एवं उनके बचाव के लिए की जा रही तैयारियों को लेकर प्रमंडलीय आयुक्त ने समीक्षा बैठक की। प्रमंडलीय आयुक्त ने प्रखंडों में कार्यरत क्वारंटाइन कैंप में महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, हरियाणा और दिल्ली से आए शत प्रतिशत लोगों की जांच कराने के निर्देश दिए। वहीं, 60 वर्ष से अधिक या लक्षणयुक्त वाले व्यक्ति का अनिवार्य रूप से परीक्षण कराने तथा परीक्षण उपरांत होम क्वारंटाइन में रखने को लेकर निर्देश देते हुए आयुक्त ने मुंगेर नगर निगम के आयुक्त से कहा कि चुरम्बा एवं बरदह क्षेत्रों में इसको लेकर माइकिंग कराएं। आने वाले प्रवासी मजदूर को प्रखंडों में संचालित क्वारंटाइन कैंप में रखे जाने और उनका तुरंत मेडिकल स्क्रीनिंग करने के भी निर्देश दिए।  

72 घंटे में नहीं मिले कोरोना के नए मरीज

मुंगेर के जमालपुर की फिजा बदलने लगी है। बीते 72 घंटे में एक भी कोरोना पॉजिटिव मरीज नहीं मिले हैं। कोरोना का खौफ भले ही पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ हो, लेकिन लोगों में बने डर और भय का माहौल थोड़ा सामान्य जरूर हुआ है। मुंगेर के 19 लोग कोरोना को मात देकर वापस भी लौट चुके हैं। इस बात से लोगों में खुशी है और उन्हें राहत भी मिली है। लेकिन, अब भी पुलिस प्रशासन जमालपुर में लॉक डाउन और शारीरिक दूरी का सख्ती से अनुपालन कराने में जुटी हुई है। सड़कों पर एंबुलेंस और पुलिस की गाड़ियां दौड़ रही है। कोरोना से मुक्ति के लिए प्रार्थना और दुआ का दौड़ भी जारी है। इधर, रेड जोन में शामिल जिले के जमालपुर नगर परिषद क्षेत्र के सदर बाजार, वलीपुर, मोहनपुर मुहल्ला में जहां पुलिस जवान लगातार गश्त कर रहे हैं। वहीं, सफाई कर्मी भी वार्ड संख्या 18, 20, 21, 23 में लगातार ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करते देखे जा रहे हैं। इलाके को सैनिटाइज्ड भी किया जा रहा है। कंटेंनमेंट जोन में विभक्त उपरोक्त वाडरे की निगरानी नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सूर्यानंद सिंह, प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी बलराम प्रसाद, बीडीओ राजीव कुमार, सीओ शंभु मंडल, सर्किल इंस्पेक्टर पंकज कुमार, थाना अध्यक्ष रंजन कुमार सहित कई पुलिस पदाधिकारी एवं प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी आदि कर रहे हैं। पल पल की रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को भेजी जा रही है। वहीं, एसआइ रंजन कुमार व नंदी पासवान के साथ मेडिकल टीम संदिग्ध मरीजों को क्वारंटाइन कराने की जिम्मेवारी का निर्वाहण कर रहे हैं।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में बिजली गिरने से 16 की मौत, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोक

बिजली गिरने से प्रदेश के सात जिलों में 16 लोगों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरा …