Home झारखंड विश्वविद्यालयों में परीक्षा पद्धति को किया जाएगा सरल : Lockdown

विश्वविद्यालयों में परीक्षा पद्धति को किया जाएगा सरल : Lockdown

4 second read
0
0
184

लॉकडाउन के कारण शिक्षण संस्थाओं में मार्च से कक्षाएं स्थगित हैं। विश्वविद्यालयों की स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की एंड सेमेस्टर परीक्षाएं नहीं हो पाई हैं। यूजीसी की ओर से जारी परामर्श में जुलाई से एंड सेमेस्टर परीक्षा का आयोजन करने का की बात कही गई है। इसके मद्देनजर रांची विश्वविद्यालय, डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय (डीएसपीएमयू) समेत अन्य विश्वविद्यालयों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। सभी विश्वविद्यालय परीक्षा पद्धति को सरल बनाने पर भी काम कर रहे हैं। इसके तहत परीक्षा की अवधि घटेगी और प्रश्न भी कम किए जाएंगे।

यूजीसी का सुझाव है कि परीक्षा अवधि तीन घंटे के बजाय दो घंटे की जाए और मल्टीपल च्वॉयस के प्रश्न से परीक्षा ओएमआर शीट पर ली जाए। हालांकि, विश्वविद्यालयों के लिए ओएमआर शीट पर परीक्षा लेना आसान नहीं होगा, इसके लिए परीक्षा नियमों में पूरी तरह बदलाव करना होगा।  रांची विश्वविद्यालय व डीएसपीएमयू परीक्षा पद्धति को सरल बनाने की दिशा में विचार कर रहे हैं। इसके तहत परीक्षा की अवधि घटाई जाएगी और इसी के अनुसार प्रश्नों की संख्या भी कम कर दी जाएगी। इसमें अति लघु, लघु और दीर्घ प्रश्न शामिल होंगे। रांची विश्वविद्यालय ने छात्रों को परीक्षा पूर्व तैयारी कराने के उद्देश्य से मॉडल क्वेश्चन पर आधारित आरयू क्वेश्चन बैंक तैयार कराये हैं, जो विश्वविद्यालय की वेबसाइट- www.ranchiuniversity.ac.in, पर अपलोड कर दिया जाएगा। इसमें स्नातक और स्नातकोत्तर के रेगुलर, वोकेशनल, प्रोफेशनल, बीएड, इंजीनियरिंग समेत सभी विषयों के हर पेपर के लिए सौ-सौ प्रश्न होंगे। आगामी परीक्षाओं के प्रश्न पत्र इन्हीं प्रश्नों पर आधारित होंगे। प्रति कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने कहा कि छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प को ही ध्यान में रखकर ही परीक्षा पद्धति में कोई भी बदलाव किया जाएगा।

डीएसपीएमयू प्रशासन ने भी सभी विषयों का मॉडल क्वेश्चन पेपर तैयार कराया है। साथ ही, विश्वविद्यालय प्रशासन मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन पर आधारित ओएमआर शीट पर परीक्षा लेने पर भी विचार कर रहा है। हालांकि इस पर अंतिम निर्णय विश्वविद्यालय के खुलने के बाद लिया जाएगा। रजिस्ट्रार डॉ एनडी गोस्वामी ने कहा कि परीक्षा व पाठ्यक्रम संबंधी मामलों पर सुझाव के लिए एक कमेटी गठित की जाएगी, जिसमें सभी दिन के अलावा विश्वविद्यालय अधिकारी व शिक्षक शामिल होंगे।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

सीएम नीतीश ने अधिकारियों और जिलाधिकारियो को दिया आदेश, कही ये बात, पढ़ें

मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद में करीब साढ़े पांच घंटे तक समीक्षा बैठक चली। मुख्यमंत्री …