Home झारखंड आंगनबाड़ी केंद्रो में पाउडर दूध देने को लेकर तैयारी:झारखंड

आंगनबाड़ी केंद्रो में पाउडर दूध देने को लेकर तैयारी:झारखंड

0 second read
0
0
99


सूबे के आंगनबाड़ी में बच्चों को पाउडर दूध देने की पहल की जा रही है। झारखंड मिल्क फेडरेशन ने सरकार को इन केंद्रो में पाउडर दूध देने को लेकर प्रस्ताव भेजा है। फेडरेशन ने कहा है कि राज्य में दूध की खपत इस लाॅकडाउन की अवधि में 60 प्रतिशत तक कम हुई है। इसके बाद दूध का स्टाॅक अधिक होने के कारण इसे लखनऊ भेजकर पाउडर दूध बनाया जा रहा है। एक माह में पाउडर दूध का स्टाॅक काफी हो गया है। जबकि इसकी खपत कहीं नहीं हो रही है। ऐसे में आंगनबाड़ी केंद्रो में अगर बच्चों को पाउडर दूध दिया जाए तो बच्चों में कुपोषण दूर करने में बड़ा कदम उठाया जा सकता है। फेडरेशन के एमडी सुधीर कुमार बताते हैं कि बिहार में सरकार आंगनबाड़ी के बच्चों को पाउडर दूध उपलब्ध करा रही है, इससे दूध की खपत भी हो रही है और अधिक दूध उठाव के कारण दूध उत्पादन करने वाले किसानों का रोजगार भी बढ़ रहा है। इस तरह की पहल इस अवधि में करना काफी बेहतर होगा। सरकार को इस संबंध मंे प्रस्ताव भेजा गया है, उम्मीद है कि वे इस पर पहल करेंगे। 300 टन पाउडर दूध भरा पड़ा है प्लांट में: फेडरेशन पिछले माह से ही दूध लखनऊ स्थिित पाउडर प्लांट मे भेज रहा है। इसके बाद अभी तक करीब 300 टन पाउडर दूध आ चुका है। इसे विभिन्न जिलों में रखा जा रहा है। इसमें रांची के होटवार, देवघर व कोडरमा में पाउडर दूध को रखा जा रहा है। फेडरेशन के अनुसार स्टाॅक काफी हो गया है, अब इसे लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है। फिर किसानों की बढ़ सकती है मुश्किलें : लाॅकडाउन के शुरूआत के बाद से ही दूध की खपत काफी कम हो जाने के बाद विभिन्न डेयरी कंपनियों ने दूध उत्पादकों से दूध कम लेना शुरू कर दिया था। धीरे-धीरे सुबह का दूध लेना शुरू किया गया लेकिन शाम का दूध नहीं लिया गया। इसके बाद ग्रामीणों को दूध नालियों में बहाने केा मजबूर हो गए थे, उनकी तंगीहालत देख फिर से दोनों वक्त का दूध लेना शुरू किया गया। लेकिन अब दूध बढ़ जाने के बाद वही स्थिति डेयरी कंपनियों के सामने उत्पन्न हो रही है। इसके साथ ही दूध के अन्य उत्पादों में पाउडर दूध बनाने के बाद इसकी खपत नहीं होने से भी परेशानी बढ़ गई है।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…