Home झारखंड रिम्स के डॉक्टर का फेक फेसबुक अकाउंट बनाकर 15 हजार रुपये की ठगी:रांची

रिम्स के डॉक्टर का फेक फेसबुक अकाउंट बनाकर 15 हजार रुपये की ठगी:रांची

2 second read
0
0
98

रांची. कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एक ओर जहां कोरोना योद्धाओं को सम्मानित कर हौसला बढ़ाया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर साइबर अपराधी (Cyber Criminals) उन्हें अपना शिकार बनाने में जुटे हैं. ताजा मामला रिम्स (RIMS) के माइक्रो बायोलॉजी विभाग के हेड डॉ मनोज कुमार से जुड़ा हुआ है. साइबर अपराधियों ने डॉ मनोज के फेसबुक अकाउंट को हैककर वहां से सारी सूचनाएं और फोटो ले लिया, फिर डॉ मनोज के ही नाम से फेक फेसबुक अकाउंट बनाकर आर्थिक मदद के नाम पर 15 हजार रुपये की ठगी कर ली.जानकारी के मुताबिक साइबर ठगों ने पहले डॉ मनोज कुमार के नाम पर फेक फेसबुक अकाउंट बनाया. फिर उस फेक फेसबुक अकाउंट पर रुपयों की मांग की. डिजिटल ट्रांसफर के लिए मोबाइल नम्बर भी दिये. इसी नम्बर पर डॉ मनोज के जूनियर साइंटिस्ट निकेश सिन्हा ने 15 हजार रुपये यह सोचकर ट्रांसफर कर दिया कि उनके बॉस को पैसे की जरूरत होगी.डॉ मनोज ने बताया कि एम्स, पीएमसीएच सहित कई जगह के चिकित्सक दोस्तों ने उन्हें फोन कर बताया कि उनके नाम पर फेक फेसबुक अकाउंट है और उसमें जन्म का साल 1994 दर्ज है. जब डॉ मनोज ने सर्च कर उस फेक अकाउंट को देखा, तो 15 हजार रुपये की ठगी वाली बात भी सामने आ गई. जिसके बाद उन्होंने सिटी एसपी से बात कर बरियातू थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई है.सिटी एसपी सौरभ ने बताया कि मामले की जांच का जिम्मा साइबर क्राइम ब्यूरो को दी गई है. डीएसपी रैंक के अधिकारी मामले की जांच करेंगे. साइबर ठगों की जानकारी के लिए फेसबुक से भी सम्पर्क साधा गया है. डॉ मनोज ने इस साइबर ठगी के बारे में जानकारी देते हुए किसी भी तरह की आर्थिक मदद नहीं करने की अपील की है.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…