Home बड़ी खबर सीएम नीतीश ने अधिकारियों को दिया निर्देश, कहा- मदद पहुंचाने में गड़बड़ी पर करें कार्रवाई

सीएम नीतीश ने अधिकारियों को दिया निर्देश, कहा- मदद पहुंचाने में गड़बड़ी पर करें कार्रवाई

9 second read
0
0
171

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान सरकार द्वारा लोगों को कई प्रकार से सहायता पहुंचायी जा रही है। इस क्रम में लोगों से प्राप्त शिकायतें या उनसे मिले फीडबैक पर पदाधिकारी संवेदनशील रहें। शिकायतों पर त्वरित जांच कराकर गड़बड़ी पर समुचित कार्रवाई सुनिश्चित करें, ताकि लोगों को सरकार की ओर चलायी जा रही योजनाओं का बेहतर लाभ मिल सके। 

मुख्यमंत्री ने बुधवार को मुख्य सचिव और अन्य आलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर कई निर्देश दिये। कहा कि राज्य मुख्यालय की जिला मुख्यालयों के साथ ही दूसरे राज्यों के साथ सूचनाओं के आदान-प्रदान की सुदृढ़ व्यवस्था रखें, ताकि सही एवं सटीक सूचनाओं का त्वरित रूप से आदान-प्रदान हो सके। इससे बाहर से आने वाले प्रवासियों को सही जानकारी प्राप्त हो सकेगी और उन्हें किसी प्रकार की असुविधा नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है, जिसके कारण बिहार में कोरोना संक्रमण का असर कम हुआ है। 

दूसरे राज्यों से आ रहे कुशल श्रमिकों का बनेगा डाटा बेस
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर लॉकडाउन के दौरान बाहर से आ रहे मजदूरों के स्किल सर्वे का काम शुरू कर दिया गया है। शीघ्र ही स्किल्ड मजदूरों का डाटाबेस तैयार कर लिया जाएगा। इसके बाद उनकी क्षमता के अनुसार उन्हें राज्य सरकार रोजगार उपलब्ध कराएगी। सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि इसके लिए ऐप बना लिया गया है।  

उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद  मुख्य सचिव दीपक कुमार ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक की व सभी डीएम को निर्देश दिया कि मनरेगा में ज्यादा-से-ज्यादा लोगों को काम दिलाएं। कोरोना से उत्पन्न स्थिति को लेकर किये जा रहे कार्यों की जानकारी स्थानीय विधायकों को भी दें और उनका सुझाव भी लें। कहा कि प्रखंड स्तर पर बने क्वारंटाइन सेंटर पर लोगों की सुविधा के लिए बेहतर भोजन और आवासन की उपलब्धता सुनिश्चित करें। प्रखंड स्तरीय 3060 क्वारंटाइन सेंटर अभी बने हैं, जिसमें 17577 लोग रह रहे हैं। स्वास्थ्य  के सचिव लोकेश कुमार ने कहा कि कोरोना की जांच का दायरा बढ़ाया जा रहा है। अभी 7 जगहों पर जांच की जा रही है, जहां औसतन प्रतिदिन 1500-1600 जांच हो रही है। इसके अलावा तीन जगहों पर दरभंगा में व पटना में दो जगहों पर जल्द जांच की व्यवस्था होगी। 

15 ट्रूनेट मशीनें आ रहीं
15 ट्रूनेट मशीनें आ रही हैं, जिसे उन मेडिकल कॉलेजों में लगाया जाएगा, जहां पर अभी कोरोना जांच नहीं हो रही है। साथ ही कुछ अन्य जगहों पर भी स्थापित होंगे। इस एक मशीन से प्रतिदिन 25-30 जांच हो सकेगी। एडीजी मुख्यालय जितेंद्र कुमार ने  कहा कि लॉकडाउन उल्लंघन पर अभी तक 59  हजार वाहन मालिकों से 13.33 करोड़ की वसूली की गई है। 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार के इस बच्चे की बॉलीवुड एक्ट्रेस गौहर खान करेंगी मदत, पढ़ें

छठी क्लास में पढ़ने वाले 11 साल के सोनू कुमार ने हाल ही बिहार के सीएम नीतीश कुमार के सामने…