Home बड़ी खबर बिहार के कई जिलों में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश, पांच की मौत

बिहार के कई जिलों में तेज आंधी-तूफान के साथ बारिश, पांच की मौत

4 second read
0
0
158

पटना। चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र सक्रिय होने से देश के कई हिस्सों के साथ ही बिहार में भी गुरुवार को मौसम का मिजाज बिगड़ा रहा। यहां  पटना सहित बिहार के कई जिलों में तेज हवा के साथ धूल भरी आंधी चली, फिर तेज बारिश हुई। कहीं-कहीं ओलावृष्टि भी हुई जिससे फसलों को काफी क्षति पहुंची है। वहीं पांच लोगों की मौत हो गई

आंधी-बारिश से पांच लोगों की मौत

बिहार के भागलपुर, खगड़िया में दीवार गिरने से एक-एक और नवादा तथा भागलपुर जिले में वज्रपात की चपेट में आने से एक-एक, मुंगेर में पेड़ गिर जाने से उसके नीचे  दबकर एक व्यक्ति की जान चली गई। बारिश के कारण आम, मक्का और लीची की फसलों को व्यापक नुकसान पहुंचा है।

सीएम नीतीश ने वज्रपात से हुई मौत पर जताया दुख

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नवादा में एक एवं भागलपुर में एक बच्ची की मृत्यु पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में वे प्रभावित परिवारों के साथ हैं। मुख्यमंत्री ने तत्काल मृतक बच्चियों के परिजनों को चार-चार लाख रूपये अनुग्रह अनुदान देने के निर्देश दिये हैं। 

सिवान, नालंदा, नवादा में तेज बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि

बिहार के सिवान, नवादा, नालंदा सहित किई जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश और साथ ही ओलावृष्टि भी हुई  है। इस बेमौसम बरसात से फसलों को काफी नुकसान पहुंचने का अनुमान है जिसकी वजह से किसानों के चेहरे उदास हैं। इन जिले में लगी गेहूं की फसल को ज्यादा नुकसान पहुंचा है तो वहीं आम और लीची की फसलें भी बर्बाद हो गई हैं।

मौसम विभाग ने अलर्ट किया था जारी

मौसम विभाग ने पहले ही अलर्ट जारी किया था कि पटना सहित समूचे प्रदेश में गुरुवार को हल्की बारिश की आशंका जताई थी। विभाग के मुताबिक पूरे प्रदेश में बादल छाये रह सकते हैं और कई जिलों में तेज बारिश का पूर्वानुमान है। इधर पटना में बुधवार की रात भी तेज हवा के साथ बारिश हुई थी।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…