Home झारखंड शॉर्टकट में सफलता पाने की ललक धकेल रही है अपराध के दलदल में

शॉर्टकट में सफलता पाने की ललक धकेल रही है अपराध के दलदल में

0 second read
0
0
137

हजारीबाग में पिछले दिनों पढ़े लिखे युवाओं को पकड़े जाने के बाद यह चर्चा चल पड़ी है कि आखिर में अपराध के दलदल में इस तरह के युवा कैसे दाखिल हो रहे हैं। शुक्रवार को मीडिया के सामने जब लूट कांड के आरोपी अहमद रजा, शाहनवाज आलम और ओवैश उर रहमान को प्रस्तुत किया गया तो उनकी प्रोफेसनल डिग्री और जारी पढ़ाई ने सबको चकित कर दिया। इनमें एक बीटेक डिग्री धारी और दो इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्र हैं। इस संबंध में स्थानीय थानाप्रभारी नीरज कुमार सिंह कहते हैं कि युवाओं की डिग्री और पढ़ाई के प्रति रुझान देखने के बाद पुलिस इस बात की तफ्तीश कर रही है कि आखिर लूट पाट के लिए उनका वास्तविक मकसद क्या था। क्या कहते हैं मोटिवेटरमोटिवेटर डॉ राहुल कहते हैं कि समाज के सामने यह बात रखनी होगी कि सफलता का रोल मॉडल कौन है, सफल आदमी ने किस कीमत पर सफलता प्राप्त की यह जानना और बच्चों को बताना जरूरी है। कहने का मतलब यह है कि जो सही रास्ते पर चलकर सफल हुआ है हम उन्हीं को इज्जत दें और अपना रोल मॉडल माने। इससे समाज सुधरेगा और युवा भी सुधरेंगे। यानी सफलता महत्वपूर्ण नहीं है महत्वपूर्ण यह कि उसने सही राह पर चलकर सफलता प्राप्त की है या नहीं। दूसरा महत्वपूर्ण प्वाइंट यह है कि सफलता पाने में वक्त लगता ही लगता है रातों रात सफलता नहीं मिलती। जहां ऐसी सफलता चाहेंगे तो गलत रास्ते पर जाना ही पड़ेगा। इसलिए अगर हम सफल होना चाहते हैं तो हममें लंबा संघर्ष का माद्दा होना चाहिए।

एसपी एसपी कार्तिक एस भी पढ़े लिखे युवाओं के गलत राह में आने पर अपनी चिंता प्रकट करते हैं वह कहते हैं मोबाइल और इंटरनेट खराब चीज नहीं है पर युवाओं को इसमें दिखाया जाने वाला तिलिस्म आकर्षित करता है माता पिता को अपने बच्चों को शुरुआती दौर में ही इस पर ध्यान देना चाहिए उन्हें इसके वास्तविकता से अवगत कराना जरूरी है। वह अभिभावकों से अपील करते कहते हैं कि अभिभावक अपने अपने बच्चों पर ध्यान दें। इंटरनेट एवं सोशल मीडिया से दूर रखें। इंटरनेट एवं सोशल मीडिया से प्रेरित होकर युवा अपराध जगत में कदम रख रहे हैं। घर में डिजिटल खाई नहीं बनने दे। बच्चों के साथ अभिभावक भी तकनीकी जानकारी रखें।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

उत्तर बिहार से दक्षिण बिहार को जोड़ने वाली राज्य का पहला ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे के बनने का रास्ता हुआ साफ

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अनुरोध पर केंद्र सरकार ने इसे नेशनल हाइवे का दर्जा दे दिय…