Home बड़ी खबर बीएमपी में हैं 2500 जवान, 350 जवानों की होगी कोरोना जांच

बीएमपी में हैं 2500 जवान, 350 जवानों की होगी कोरोना जांच

4 second read
0
0
135

पटना । बीएमपी 14 में पांच जवानों में संक्रमण की पुष्टि के बाद हड़कंप मच गया है। खतरे की बात यह है कि बिहार सैन्य पुलिस की तीन बटालियन एक साथ बनी हुई हैं। बीएमपी की 5,10 और 14 के आने जाने का रास्ता भी सटा हुआ है। ऐसे में बीएमपी की तीनों बटालियन में रहने वाले लगभग ढाई हजार जवानों में संक्रमण को लेकर दहशत है। थोड़ी दूरी पर पुलिस का आवासीय परिसर भी है। आसपास होने के कारण जवानों का संपर्क भी आपस में होता है। तीनों बटालियन के नाई, धोबी, रसोइया और सफाईकर्मी भी आपस में संपर्क में रहते हैं। 

शनिवार को बीएमपी में डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, डीएम कुमार रवि, एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा के साथ सिविल सर्जन डॉ. राज किशोर चौधरी  स्वास्थ्य टीम के साथ पहुंचे। बैरकों का निरीक्षण करने के बाद जवानों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा गया। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया कि वे सभी जवानों की समुचित स्क्रीनिंग जल्द से जल्द कराएं। परिसर को नियमित साफ करने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा परिसर में एक गैस एजेंसी संचालित है, जिसकी शनिवार को बैरिकेडिंग कर दी गई जिससे एजेंसी से जुड़ा कोई भी व्यक्ति बीएमपी क्षेत्र में प्रवेश न करे।

करीब आने वाले ही हुए पॉजिटिव
बीएमपी 14 के जिन पांच जवानों में संक्रमण पाया गया है वह पूर्व में संक्रमित रिटायर जवान के काफी नजदीक रहे हैं। बैरक में आसपास ही उनका बेड था और खाना पीना भी साथ ही होता था। बैरक में थोड़ी दूरी पर रहने वाले जवानों में संक्रमण नहीं पाया गया है। जांच के लिए कुल 16 जवानों का नमूना भेजा गया था, लेकिन 11 जवानों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि यह वही 11 जवान हैं जो बरामदे में रहते थे। हालांकि, जो पॉजिटिव पाए गए हैं उनमें भी कोई लक्षण नहीं मिला है। संपर्क में आने के कारण ही सभी की जांच कराई गई जिसके बाद पांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई।

सर्दी-खांसी व उम्रदराज जवानों की तलाश  
आधा दर्जन जवानों में कोरोना संक्रमण से बिहार पुलिस में मचे हड़कंप का असर शनिवार को देखने को मिला। सोशल डिस्टेंसिंग का पाठ पढ़ाते हुए ऐसे जवानों की तलाश शुरू कर दी गई है जो अधिक उम्र वाले हैं और सर्दी खांसी या फिर शुगर व ब्लड प्रेशर के मरीज हैं। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि बीएमपी 5, 10 और 14 आपस में सटे हुए हैं। तीनों बटालियन के जवानों का आना-जाना व मिलना एक रास्ते में ही हो जाता है। ऐसे में आशंका संक्रमण का ग्राफ बढ़ने को लेकर है। क्योंकि पांच पॉजिटिव आए जवानों में तीन जिला पुलिस बल में भी ड्यूटी कर रहे थे। स्वास्थ्य विभाग उनकी तैनाती स्थल का भी पता लगाने में जुटा हुआ है।

चुनौतियों का सामना करने वालों को कोरोना के साथ जीना सीखना होगा। बीएमपी में जवानों को इसके लिए तैयार किया जा रहा है। बचाव को लेकर उन्हें जागरूक किया गया है, बीएमपी में साढे़ तीन सौ का नमूना लिया जाएगा। 
-डॉ राज किशोर चौधरी, सिविल सर्जन

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

रोहतास के विधायक के पोते संजीव मिश्रा की हत्‍या मामले में एसपी आशीष भारती ने थानेदार को किया सस्‍पेंड

रोहतास: एसपी आशीष भारती ने परसथुआ के ओपी अध्यक्ष मो कमाल अंसारी को सस्पेंड कर दिया है। उनक…