Home झारखंड PM नरेंद्र मोदी के ऐलान से जुड़े सवाल पर CM हेमंत सोरेन ने कहा, ‘यह तो चित भी मेरी, पट भी मेरी’

PM नरेंद्र मोदी के ऐलान से जुड़े सवाल पर CM हेमंत सोरेन ने कहा, ‘यह तो चित भी मेरी, पट भी मेरी’

6 second read
0
0
107

रांची. झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) सही मायने में आदिवासी नेता हैं. जो महसूस करते हैं, बेलाग होकर बोलते हैं. लेकिन तलाशने वाले उनकी इस सादगी में भी राजनीति तलाशें, तो बात अलग.आज जब पीएमओ के ट्वीट से यह जानकारी सामने आई कि रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) देश को संबोधित करेंगे. इस बाबत जब सीएम हेमंत सोरेन से पीएम नरेंद्र मोदी के ऐलान से जुड़ा सवाल किया गया, तो हेमंत ने कहा, ‘यह तो चित भी मेरी, पट भी मेरी. मुसीबत में भी डालें, माफी भी मांगें. आज जो नदी की प्रवाह बदल गई है. मजदूर कितने हताश हैं. जिस पीड़ा से मेरे प्रदेश के लोग गुजर रहे हैं, वो यहां के प्रवासी ही बता सकते हैं.दरअसल, मजदूरों के पलायन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से माफी मांगी थी. मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा था कि कुछ ऐसे निर्णय लेने पड़े हैं, जिसकी वजह से आपको कठिनाइयां उठानी पड़ रही हैं. मैं आपकी दिक्कत और परेशानी समझता हूं, लेकिन आपकी जान बचाने के लिए कठोर कदम उठाने पड़े.इससे पहले सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 (Covid-19) के संक्रमण को फैलने से रोकने, लॉकडाउन (Lockdown) से चरणबद्ध तरीके से बाहर निकलने और आर्थिक गतिविधियां तेज करने के उपायों पर सोमवार को राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से बात की थी. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हुई बातचीत में झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन भी शामिल हुए थे. इस बातचीत में औरंगाबाद ट्रेन हादसे में 16 श्रमिकों की मौत के मद्देनजर मुख्यमंत्री सोरेन ने पीएम से अनुरोध किया कि झारखंड में प्रवासियों की वापसी शीघ्र और सुरक्षित तरीके से हो. झारखंड में होने वाले रिवर्स माइग्रेशन (लगभग 6 लाख) के मद्देनजर मुख्यमंत्री ने अगले एक साल के लिए मौजूदा मनरेगा श्रम मजदूरी में 50 प्रतिशत की वृद्धि का अनुरोध किया है. इसके अलावा उन्होंने वर्तमान वेतन भुगतान नॉर्म्स को शिथिल करने और मनरेगा मजदूरों के दैनिक भुगतान को सुनिश्चित करने पर बल दिया.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…