Home बड़ी खबर प्रवासी मजदूरों के संपर्कों को ट्रेस करना भी होगी बड़ी चुनौती, दुकानों को कराया बंद

प्रवासी मजदूरों के संपर्कों को ट्रेस करना भी होगी बड़ी चुनौती, दुकानों को कराया बंद

0 second read
0
0
272

मुंगेर । रविवार को मुंगेर में कोरोना के 11 नए मरीज मिले थे। 11 मरीजों में आठ टीकारामपुर, दो जगदीश टोला और एक जमालपुर के थे। सभी प्रवासी मजदूर थे। सभी मजदूर खगडिय़ा में संक्रमित पाए गए मरीज के साथ ट्रक से खगडिय़ा पहुंचे थे। जिला प्रशासन का मानना है कि सभी पहले से क्वारंटाइन थे। इसलिए चिंता की बात नहीं है। जबकि, स्थानीय लोगों की माने तो खगडिय़ा के मरीज के पॉजिटिव पाए जाने की खबर सामने आने से पहले मजदूर अपने गांव में बनाए गए क्वारंटाइन कैंप में रहते हुए भी कई लोगों के संपर्क में आ गए थे। सैंपल एकत्रित किए जाने और जांच रिपोर्ट आने के बाद अब प्रवासी मजदूरों के संपर्कों की नए सिरे से जांच किए जाने की आवश्यकता है।

कई दुकानों को प्रशासनिक अधिकारियों ने कराया बंद

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार और प्रशासन के तमाम प्रयासों के बावजूद लोग निडर बने हुए हैं। लॉकडाउन के 47 दिन बाद भी लोगों में लॉकडाउन और शारीरिक दूरी के अनुपालन को लेकर जागरुकता का अभाव दिख जाता है। सार्वजनिक जगहों पर शारीरिक दूरी का अनुपालन नहीं किया जा रहा है, तो दोपहिया वाहनों पर भी दो सवार धड़ल्ले से घूमते हैं। वहीं, जिला प्रशासन द्वारा दिए गए रियायत का भी लोग नाजायज लाभ उठाने से बाज नहीं आ रहे हैं। एसडीपीओ रमेश कुमार, डीसीएलआर आइए अंसारी, थानाध्यक्ष अमरेंद्र कुमार ने बाजार में भ्रमण कर छूट से बाहर रखे गए दुकानों को बंद कराया। अधिकारियों ने कहा कि नियम के विरुद्ध दुकान खुलने वाले दुकानदार पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जो भी दुकाने खुल रही है, उन दुकानों में शारीरिक दूरी का अनिवार्य रूप से पालन सुनिश्चित कराएं। लॉक डाउन के दौरान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक सब्जी, किराना, दवाई, इलेक्ट्रॉनिक आदि दुकानों को खोलने की रियायत दी गई है। बावजूद बर्तन, ज्वेलरी, कपड़े की दुकानें लगातार खुल रहीं थी। इसकी जानकारी मिलने पर प्रशासन ने दुकानों को बंद कराया। तारापुर के सीमावर्ती अनुमंडल खडग़पुर में दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने पर तारापुर वासियों में भय व्याप्त है। वही सरकार के निर्देश के बाद खुले मोबाइल दुकानों पर शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ रही है।

क्वारंटाइन कैंप से दस लोगों को भेजा घर

टेटिया बम्बर प्रखंड के माध्यमिक विद्यालय मोहनपुर भलगुरी क्वांंराटाइन कैंप से दस लोगों को घर भेजा गया। घर भेजने के पूर्व सभी दस लोगों का स्वास्थ्य जांच चिकित्सक डॉ. अपूर्व कुमार ने की। जांच के बाद राष्ट्रपति के हाथों नारी शक्ति सम्मान से पुरस्कृत वीणा देवी एवं अभिनेता राजन कुमार, बीडीओ दृष्टि पाठक, प्रखंड प्रमुख प्रतिनिधि अविनाश कुमार, पैक्स अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार झा ने सभी लोगों को फूल देकर सम्मानित किया एवं घर भेजा। इस अवसर पर अभिनेता राजन कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सर्तक रहे, सावधान रहे। स्वच्छता पर ध्यान दें। लॉकडाउन का पालन करें। वहीं राष्ट्रपति सम्मान से सम्मानित वीणा देवी ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सबसे जरूरी है शारीरिक दूरी का पालन करना, इसके प्रति गंभीर रहे। 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…