Home बड़ी खबर बाप-बेटा गैंग की अजब-गजब जोड़ीः एक लाता शराब तो दूसरा करता होम डिलेवरी, फोन से चलता था कारोबार

बाप-बेटा गैंग की अजब-गजब जोड़ीः एक लाता शराब तो दूसरा करता होम डिलेवरी, फोन से चलता था कारोबार

6 second read
0
0
155

पटना । आपको बाप-बेटे की जोड़ी द्वारा किए गए कई कारनामे याद होंगे जो हौसला बढ़ाते हैं, लोगों को सीख देते हैं। यहां कहानी थोड़ी अलग है। बिहार की राजधानी पटना में शराबबंदी कानून को बाप-बेटे मिलकर तोड़ रहे थे। एक दूसरे राज्यों से शराब की बोतलें ताला था तो दूसरा घर तक पहुंचाता था। दोनों ने इसके लिए पटना में एक किराए के मकान में रहते थे, और फोन से अपना कारोबार चलाते थे। 

राजधानी के विभिन्न इलाकों में करते थे डिलेवरी

पटना की जक्कनपुर थाने की पुलिस ने सोमवार को दूसरे राज्यों से शराब लाकर राजधानी के विभिन्न इलाकों में होम डिलीवरी करने वाले बाप-बेटे को गिरफ्तार किया है। इसे अंजाम देने वालों की पहचान राजू कुमार उर्फ डड्डू और सूरज प्रसाद शर्मा के रूप में हुई। दोनों का आपस में रिश्ता बाप-बेटे का है।

किराए के मकान से मिली 104 बोतलें

दोनों आरोपित बाप-बेटे को पुलिस ने मीठापुर बी एरिया नहर पर कुआं गली स्थित संजीव प्रसाद के मकान से गिरफ्तार किया है, जहां वे किराये पर कमरा लेकर रह रहे थे। उनके कमरे से पुलिस को छोटी-बड़ी मिलाकर विदेशी शराब की 104 बोतलें मिलीं। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार वर्मा के मुताबिक राजू और उसके पिता सूरज को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस को देखते ही भागने लगे बाप-बेटे

पटना में सुरक्षा के दृष्टिकोण से गश्ती के दौरान एएसआइ सीताराम प्रसाद यादव को सूचना मिली कि मीठापुर बी एरिया में शराब की खेप लाई गई है। जानकारी होने पर जब पुलिस तो जवानों को देखते ही राजू और सूरज भागने लगे। पुलिस ने शक होने पर उन्हें दबोच लिया और पूछताछ की। इसके बाद उसके घर की तलाशी ली गई, जहां से शराब की बोतलें मिलीं। पूछने पर राजू ने बताया कि वह दूसरे राज्यों से शराब लाता है। यहां लाने के बाद उसके पिता होम डिलीवरी करते हैं। पूरा धंधा फोन पर चलता है। 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की नई गाइडलाइन मिलने के बाद ही होगी

रांची: स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग यह गाइडलाइन मिलने के बाद उसके अनुसार, नियमावली में…