Home झारखंड रोते हुए शहीद की मां बोली, बेटवा को बोलो उठेगा, अब किसके सहारे जिएंगे

रोते हुए शहीद की मां बोली, बेटवा को बोलो उठेगा, अब किसके सहारे जिएंगे

4 second read
0
0
277

बेटवा उठो! बेटवा को बोलो-उठेगा, अब किसके सहारे जिएंगे। यह कहकर वृद्ध मां दहाड़ मारकर रोने लगी। आंखों से झर-झर बहते आंसू और एक जवान की बांह थामे मां गीता देवी बार-बार देश की सुरक्षा में शहीद बेटे से उठने और गले लगने की गुहार लगा रही थी। 

सीआरपीएफ के शहीद जवान मुन्ना यादव का पार्थिव शरीर मंगलवार की दोपहर करीब तीन बजे महादेवगंज स्थित उनके घर पर पहुंचने के बाद माहौल गमगीन हो गया। सोमवार को दिन में छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों से मुठभेड़ में जवान मुन्ना यादव शहीद हो गए थे। उधर, पत्नी नीतू का रो-रोकर बुरा हाल था। दोपहर करीब एक बजे जवान  का पार्थिव शरीर सेना के हेलीकॉप्टर से जैप 9 के परेड ग्राउंड में उतरा। राजकीय सम्मान के साथ उसके पार्थिव शरीर को उसके घर तक पहुंचाया गया। साहिबगंज के मुनीलाल श्मसान घाट पर 36 राउंड फायरिंग कर आखिरी सलामी दी गई। मुखाग्नि भतीजे नीतीश कुमार ने दी। पार्थिव शरीर के गांव पहुंचने पर हर व्यक्ति शहीद मुन्ना यादव की अंतिम दर्शन पाने की इच्छा से अपने घर के बाहर खड़ा था।  कई जगह पर लोगों ने पुष्प वर्षा कर शहीद जवान को श्रद्धांजलि दी।ताबूत में बंद पिता के पार्थिव शरीर के पास खड़ी सात साल की बेटी सोनी गुमशुम होकर कभी मां तो कभी भाई को निहार रही थी। वह मां से बार-बार पूछ रही थी कि मम्मी …पापा कहां हैं? उठ क्यों नही रहे है। मां व दादी उसे सीने से लिपटकर रोने लगती है। यह दृश्य देख वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंखें नम हो गई। 

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय की आज मुलाकात, तलाक की बात पर होगी चर्चा ! पढ़ें

ऐश्वर्या राय के तलाक के मुकदमे में आज अहम सुनवाई का दिन है। आज दोनों के बीच मुलाकात होगी। …