Home सियासत लालू के लाल तेज प्रताप ने फिर दिया विवादित बयान, मुख्यमंत्री नीतीश को कहा ‘क्वारेंटाइन चाचा’

लालू के लाल तेज प्रताप ने फिर दिया विवादित बयान, मुख्यमंत्री नीतीश को कहा ‘क्वारेंटाइन चाचा’

18 second read
0
0
364

पटना । राजद सुप्रीमो लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर विवादित बयान दिया है। तेजप्रताप ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘क्वारंटाइन चाचा’ कहकर संबोधित किया है और कहा है कि अब तेजस्वी भी पटना आ गए हैं, हम दोनों भाई मिलकर सीएम नीतीश कुमार पर धावा बोलेंगे और उनके घर जाकर उन्हें नींद से जगाएंगे। उन्हें घर से निकालकर क्वारेंटाइन सेंटर भेजना है। तेजप्रताप ने कहा कि अपने हमारे क्वारेंटाइन चाचा अभी अपने आवास में गहरी नींद में हैं, और ब्रह्मा, विष्णु, महेश भी आ जाएं तो उन्हें उठा नहीं सकते।

बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब तेजप्रताप ने कोई विवादित बयान दिया है, बल्कि उन्होंने पहले भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के खिलाफ विवादित बयानबाजी की है। तेजप्रताप ने पटना से सटे वैशाली में एक समारोह में सीएम नीतीश कुमार को कंस तक कह दिया था। जिसके बाद उनकी बड़ी किरकिरी हुई थी।

तेजप्रताप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कोरोना के लिए दिए गए विशेष पैकेज पर भी तंज कसा है और ट्वीट कर लिखा है कि बिहार का पहले का पुराना हिसाब तो कर देते

विवादित बयान के साथ ही तेजप्रताप आजकल लोगों को कोरोना से लड़ने के टिप्स भी दे रहे हैं। वो कहते हैं कि योगा और फिजिकल वर्क करने से कोरोना भागेगा और शरीर में रोग निरोधी क्षमता का विकास होगा। दरअसल तेजप्रताप खुद को फिट रखने और कोरोना से बचने के लिए अपने घर के जिम में एक्सरसाइज कर रहे हैं और लोगों को भी लॉकडाउन में वर्कआउट करने की सलाह दे रहे हैं।

तेजप्रताप चला रहे हैं लालू रसोई, खुद से बनाया लिट्टी-चोखा

तेजप्रताप यादव लॉकडाउन के इस दौर में गरीबों को रोज खाना भी खिला रहे हैं, जिसकी लोग प्रशंसा कर रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने अपने जन्मदिन के मौके पर अपने पिता के नाम पर ‘लालू की रसोई’ किचेन की शुरुआत की थी, जिसका मकसद कोरोनाबंदी के बीच गरीबों और जरूरतमंदों को खाना खिलाना है। मंगलवार को तेजप्रताप ने लोगों के लिए खुद अपने हाथों से लिट्टी-चोखा भी बनाया।

Load More By Bihar Desk
Load More In सियासत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…