Home विदेश कोरोना महामारी के बीच न्यूयॉर्क में 102 बच्चों में मिला दुर्लभ सिंड्रोम, डॉक्टर्स के लिए बनी मुसीबत

कोरोना महामारी के बीच न्यूयॉर्क में 102 बच्चों में मिला दुर्लभ सिंड्रोम, डॉक्टर्स के लिए बनी मुसीबत

2 second read
0
0
11

 न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू कुओमो ने कहा है कि स्वास्थ्य अधिकारी 102 ऐसे मामलों की जांच कर रहे हैं जिनमें दुर्लभ उत्तेजक सिंड्रोम की शिकायत की गई थी और संभवत: वे कोविड-19 से संबंधित हैं।

कुओमो ने बुधवार को कहा, ‘इस सिंड्रोम ने न्यूयॉर्क सिटी के पांच साल के बच्चे, वेस्टचेस्टर काउंटी के सात साल के बच्चे और सफोक्क काउंटी के एक किशोर की जान ले ली। इस सिंड्रोम में लगातार बुखार, गंभीर पेट दर्द, आंखों का खून की तरह लाल होना और त्वचा पर लाल चकत्ते सहित विभिन्न लक्षण नजर आते हैं।’

कुओमो के मुताबिक, इस तरह के 71 प्रतिशत मामलों में मरीज को आइसीयू में भर्ती किया गया, 19 प्रतिशत इंटुबैशन और 43 प्रतिशत अस्पताल में भर्ती हैं। उन्होंने कहा, ‘हमें इस वायरस से सचेत रहना चाहिए क्योंकि हम अभी भी सीख रहे हैं। न्यूयॉर्क आक्रामक रूप से इन नए मामलों की जांच कर रहा है और इस राष्ट्रव्यापी प्रयासों की अगुआई कर रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि राज्य का स्वास्थ्य विभाग रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के साथ काम कर रहा है, ताकि अन्य 49 राज्यों में स्वास्थ्य विशेषज्ञों को बीमारी की पहचान करने और प्रतिक्रिया देने में राष्ट्रीय मानदंड विकसित करने में मदद मिल सके।

न्यूयॉर्क के मेयर बिल डि ब्लासिओ ने बताया कि 102 मामलों में से 82 अकेले न्यूयॉर्क सिटी में हैं। इन 82 में से 53 पहले ही कोविड-19 के टेस्ट में पॉजिटिव रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘स्वास्थ्य की देखभाल से जुड़े हमारे पेशेवर जितनी तेजी से हो सकता है इस सिंड्रोम के बारे में जानकारी एकत्र कर रहे हैं, लेकिन अब भी कुछ सवालों के जवाब मिलना बाकी हैं।

कुछ ऐसी चीजें हैं जो हम नहीं जानते। हम नहीं जानते कि ऐसा क्या है जो बच्चों को विशेष रूप से अतिसंवेदनशील बनाता है और कुछ बच्चों को ही क्यों, अन्य बच्चों को क्यों नहीं।’

Load More By Bihar Desk
Load More In विदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…