Home बड़ी खबर क्‍वारंटाइन सेंटरों पर हंगामा करने पर नहीं मिलेगा रेल किराया , महत्‍वपूर्ण खबरें

क्‍वारंटाइन सेंटरों पर हंगामा करने पर नहीं मिलेगा रेल किराया , महत्‍वपूर्ण खबरें

14 second read
0
0
19

पटना । बिहार में गुरुवार को 46 नए मरीज मिले। 1000 के और नजदीक पहुंच गई मरीजों की संख्‍या। गुरुवार को नए मरीजों के मिलने के बाद कुल सं‍क्रमितों की संख्‍या 999 हो गई। वहीं, कई क्‍वारंटाइन सेंटरों पर हंगामा भी हुआ है। हालांकि, इस पर अंकुश लगाने के लिए सरकार ने कहा है कि जिस सेंटर पर हंगामा होगा, वहां के प्रवासियों को रेल किराया नहीं मिलेगा। कोई सुविधा नहीं मिलेगी। वहीं सीएम ने भी कई निर्देश दिए हैं। पढ़ें दिनभर की कोरोना से जुड़ी महत्‍वपूर्ण खबरें।  

1. कोरोना संक्रमण के मिले 36 नए मामले 

पटना। राज्य में गुरुवार को कोरोना संकमण के 36 नए मामले मिले हैं। ये सभी प्रवासी हैं जो चार मई के बाद बिहार लौटे हैं और अलग-अलग क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती हैं। इस तरह बिहार में कुल कोरोना सं‍क्रमितों की संख्‍या 989 हो गई। गुरुवार को सात अलग-अलग लैब में कुल 1633 सैंपल की जांच हुई। वहीं पिछले 24 घंटे में 25 लोगों ने इस महामारी को परास्त किया है। जिसके बाद राज्य में ठीक होने वालों की संख्या 411 हो गई है। 

2. पूर्णिया से मिले 8 संक्रमित

पटना। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि गुरुवार को आठ संक्रमित पूर्णिया से मिले हैं। ये सभी लोग रुपौली के हैं और हाल में बिहार लौटे हैं। पूॢणया के अलावा खगड़यिा से चार और लखीसराय से छह संक्रमित मिले हैं। वहीं देर रात आई तीसरी और चौथी रिपोर्ट में खगडि़या, रोहतास, वैशाली व सुपौल में दो-दो तथा भोजपुर व किशनगंज एक-एक है।

3. अन्य छह जिलों से मिले 30

पटना। पूर्णिया, खगडिय़ा और लखीसराय के अलावा मुजफ्फरपुर से तीन एवं जहानाबाद से पांच, शेखपुरा से दो, नालंदा से तीन, बांका से तीन और नवादा और भागलपुर से एक-एक संक्रमित मिले हैं। ये सभी लोग प्रवासी हैं जो तीन मई के बाद बिहार लौटकर आए हैं और राज्य के अलग-अलग हिस्सों में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में ठहराए गए हैं। 

4. अब तक हुई 40782 सैंपल की जांच

पटना। बिहार के स्वास्थ्य सचिव लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि गुरुवार तक राज्य की अलग-अलग लैब मिलाकर कुल 40782 सैंपल की जांच हुई है जिसमें कुल 989 रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई हैं। उन्होंने बताया कि चार मई के बाद लौटे प्रवासियों में कोरोना इंफेक्शन रेट 5.14 फीसद रहा। राज्य के बाहर से आए 7536 प्रवासियों में से 388 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

5. 25 और कोरोना संक्रमित हुए स्वस्थ 

पटना। लोकेश कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण का शिकार रहे 25 और लोग स्वस्थ हुए हैं। जिसके बाद राज्य में कोरोना को पराजित करने वालों की कुल संख्या 411 हो गई है। राज्य में अब कुल एक्टिव केस की संख्या 578 रह गई है।

6. जिलों में जांच में विलंब न हो, तुरंत शुरू कराएं जांच : नीतीश

पटना। कोविड-19 की महामारी को ले गुरुवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि जिलों में टेस्टिंग कार्य को अविलंब शुरू कराएं। इस कार्य में अब किसी भी तरह की देरी नहीं होनी चाहिए। योजना बनाकर अधिकाधिक टेस्टिंग कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में कारगर साबित होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अलग-अलग क्षेत्र से आने वाले प्रवासी मजदूरों के लिए जोन के हिसाब से जांच की व्यवस्था कराएं, इससे सहूलियत होगी। प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में अलग-अलग जोन से आ रहे हैैं। इसलिए उनके क्वारंटाइन के लिए रणनीति बनाकर समुचित व्यवस्था की जाए।  

7. एक दिन में आठ से नौ हजार सैंपल जांच की तैयारी

पटना। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अब सरकार संक्रमण की जांच में तेजी लाने के उपायों में जुट गई है। पहले से जांच कर रहे सरकारी लैब के साथ ही अब 13 अन्य स्थानों में कोरोना जांच की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही प्रमुख जांच केंद्र राजेंद्र मेमोयिल रिसर्च इंस्टीट्यूट और इंदिरा गांधी आयुॢवज्ञान संस्थान पटना में जांच क्षमता बढ़ाए जाने की कवायद भी शुरू हो गई है। 

 8. आरएमआरआइ-आइजीआइएमएस की क्षमता बढ़ेगी

पटना। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग कोरोना के प्रमुख जांच केंद्र आरएमआरआइ और आइजीआइएमएस की क्षमता बढ़ाने की कवायद कर रहा है। आरएमआरआइ अभी 15 सौ से दो हजार और आइजीआइएमएस पांच सौ से आठ सौ सैंपल की जांच करने में सक्षम है। सरकार इन दोनों संस्थानों को अतिरिक्त जांच उपकरण मुहैया कराएगी। उपकरण मिलने के बाद आरएमआरआइ एक दिन में करीब चार हजार और आइजीआइएमएस दो डेढ़ हजार सैंपल तक की जांच कर सकेंगे। 

9. 15 अस्पतालों में लगेंगी ट्रू नेट मशीनें

पटना। जिलों में ज्यादा से ज्यादा सैंपल की जांच शुरू करने के इरादे से दस जिला अस्पताल और पांच मेडिकल कॉलेज में सरकार ट्रू नेट मशीनें भी लगाने जा रही है। इसके अलावा 45 ट्रू नेट मशीनें और खरीदी जा रही हैं।  ट्रू नेट मशीने मूल रूप से टीबी की जांच में प्रयोग में लाई जाती हैं। यह मशीन एक घंटे में जांच के नतीजें बताने में सक्षम हैंं। मशीन स्वाब के जरिए  कोरोना वायरस की जांच करती हैं। मशीन के सिस्टम में स्वाब डाला जाता है जिसके बाद मशीन स्वयं ही आरएनए स्ट्रैक्शन सहित सारी प्रक्रिया संचालित करती है। स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि 13 ट्रू नेट मशीनों से एक दिन में हजार से 12 सौ सैंपल की जांच हो सकेगी। 

10. क्वारंटाइन सेंटर पर हंगामा करने वालों को नहीं मिलेगा रेल किराया

पटना। क्वारंटाइन सेंटर पर रहनेवाले लोगों को हंगामा करने पर सरकार से मिलने वाली भत्ता योजना का लाभ नहीं मिलेगा। आए दिन सेंटरों पर हंगामे की मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए  आपदा विभाग ने सख्त कदम उठाया है। विभाग प्रधान सचिव अमृत प्रत्यय ने पत्र भेज जिलाधिकारियों को ऐसी घटनाएं रोकने को कहा है। प्रधान सचिव ने कहा है कि प्रखंडों में बने क्वारंटाइन सेंटर पर कभी खाना तो कभी अव्यवस्था का आरोप लगा वहां रह रहे लोग हंगामा कर रहे हैं। यह गंभीर प्रकरण है। शिकायत के लिए जिला मुख्यालय में नियंत्रण केंद्र खोला गया है, जहां लोग शिकायत कर सकते हैं। किसी भी व्यक्ति को अनुशासनहीनता व कानून हाथ में लेकर काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…