Home बड़ी खबर पटना से नई दिल्ली जाने वाले रेलयात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेनों के कोच में पेमेंट के लिए लगे क्यूआर कोड

पटना से नई दिल्ली जाने वाले रेलयात्रियों के लिए स्पेशल ट्रेनों के कोच में पेमेंट के लिए लगे क्यूआर कोड

8 second read
0
0
158

पटना।  पटना से नई दिल्ली जाने वाले रेलयात्रियों की परेशानी बढ़ गयी है, क्योंकि उन्हें ट्रेन में खाने-पीने का सामान नहीं मिल पा रहा है। खानपान सेवा बंद होने से दूरदराज से आए लोगों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। वहीं, रेलवे ने कोरोना से बचाव और पेमेंट के लिए सभी बोगियों में क्यूआर कोड लगा दिया है। आईआरसीटीसी की मानें तो ऐसा पहली बार हुआ है। 

राजेंद्र नगर टर्मिनल और पटना जंक्शन से तीन दिनों में रोजाना औसतन 3200 रुपये के सामान की बिक्री हुई है। इनमें भी सबसे अधिक पानी की बोतल बिकी है। 12 मई को 35 सौ रुपये, 13 मई को 33 सौ रुपए और 14 मई को 31 सौ की बिक्री हुई है। हालांकि, ट्रेन में पानी के अलावा बिस्किट, स्नैक्स, गर्म पानी और टी बैग दिये जा रहे हैं। पटना से दिल्ली पहुंचे रोहतास के यात्री सौरर्भ ंसह ने बताया कि ट्रेन में खानपान सेवा बंद होने से उन्हें बिस्किट-पानी पर जाना पडा। कंकड़बाग के बंटी सिंह ने कहा कि परिवार के संग जाने में खाना नहीं मिलने से परेशानी हुई। रेलवे के मुताबिक, ट्रेन में सात वेंडर जा रहे हैं। सभी केवल पैक आइटम ही दे रहे हैं। पटना-नई दिल्ली के बीच चलने वाली ट्रेन की सभी बोगियों में ऑनलाइन पेमेंट के लिए नोटिस लगाया गया है। वेंडर यात्रियों से अपील कर रहे हैं कि पेमेंट एप या ऑनलाइन करें। आईआरसीटीसी के एरिया मैनेजर अमित कुमार ने बताया कि ट्रेन की सभी बोगियों में भीम एप, फोन पे, गूगल पे समेत ऑनलाइन माध्यम से पेमेंट करने की सूचना चस्पा की गयी है। इसके लिए सभी बोगी में क्यूआर कोड लगा है। 

प्रतीकात्मक छवि

किराया वापसी नियम में मिलेगी रियायत
22 मार्च से रद्द सभी ट्रेनों को 30 जून तक अथवा अगले आदेश तक के लिए रद्द कर दिया गया है। रद्द किए गए ट्रेनों के लिए ई-टिकट एवं काउंटर से टिकट बुक करा चुके सभी यात्रियों को फुल रिफंड के लिए टिकट वापसी नियमों में रियायत दी गयी है। पूर्व मध्य रेल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि 12 मई से बहाल स्पेशल ट्रेन के लिए बुक किए टिकट को गाड़ी खुलने के 24 घंटे के अंदर रद्द करने पर 50 प्रतिशत राशि और इसके बाद की अवधि के लिए किसी प्रकार के किराया वापसी का प्रावधान नहीं था। अब अगर कोई भी यात्री अपना कंफर्म टिकट रद्द करवाते हैं तो उन्हें सामान्य नियमों के तहत किराया वापसी की जाएगी। सामान्य किराया वापसी नियम दिनांक 22 मई को अथवा इसके पश्चात चलने वाली ट्रेनों के लिए बुक कराए गए टिकट पर लागू होगा।

यात्री हित में किराया वापसी नियमों में बदलाव
भारतीय रेलवे द्वारा पीआरएस काउंटर वाले टिकटों के रिफंड नियमों में छूट प्रदान की गई है। सभी नियम ई-टिकट के लिए भी समान रूप से लागू हैं। दिनांक 21 मार्च, 2020 से ट्रेन सेवा की पुनर्बहाली तक की यात्राओं के लिए बुक किए (पीआरएस काउंटर एवं ई-टिकट) टिकट के रिफंड के लिए विशेष रिफंड रूल लागू होगा। पीआरएस काउंटर द्वारा जारी टिकट यात्रा तिथि से अगले 6 माह तक किसी भी पीआरएस काउंटर पर रद्द कराया जा सकता है। वहीं ई-टिकट रिफंड स्वत: होगा।  ई-टिकट के लिए ऑनलाइन निरस्तीकरण एवं रिफण्ड की सुविधा है। वहीं पीआरएस काउंटर द्वारा प्राप्त किए गए टिकट को 139 के माध्यम से अथवा आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाकर भी दिए गए विकल्पों का चयन करके स्वयं भी टिकट को रद्द कर सकते हैं। 

धूप में घंटों कर रहे इंतजार  
राजेंद्र नगर टर्मिनल और पटना जंक्शन से नई दिल्ली के लिए ट्रेन पकड़ने वाले यात्रियों की परेशानी इन दिनों बढ़ी हुई है। स्थिति ये है कि पटना को छोड़ दूसरे जिलों से ट्रेन पकड़ने राजधानी पहुंचे लोगों को घंटों धूप में बिताना पड़ रहा है। दूरदराज के यात्री सुबह और दोपहर में ही आ जा रहे हैं। लेकिन राजेन्द्र नगर टर्मिनल और जंक्शन पर गेट शाम में खोला जा रहा है। शुक्रवार की शाम साढ़े चार बजे भी तीखी धूप में जंक्शन के बाहर लोगों की लंबी कतार थी। पहले एंट्री नहीं होने से दिक्कत हो रही है।

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में बिजली गिरने से 16 की मौत, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोक

बिजली गिरने से प्रदेश के सात जिलों में 16 लोगों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गहरा …