Home बड़ी खबर क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों को रखने के बाद झांकने भी नहीं जा रही प्रशासनिक टीम

क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों को रखने के बाद झांकने भी नहीं जा रही प्रशासनिक टीम

0 second read
0
0
44

मुजफ्फरपुर । उत्क्रमित उच्च विद्यालय खरिका में क्वारंटाइन प्रवासियों व ग्रामीणों की शिकायत पर मीनापुर विधायक राजीव कुमार उर्फ मुन्ना यादव वहां पहुंचे। इस दौरान प्रवासियों ने उनसे कई शिकायतें की। प्रवासियों का कहना था कि नौ मई से यहां ठहराया गया है, लेकिन आजतक भोजन, पेयजल सहित कोई भी व्यवस्था नहीं की गई है। विधायक ने मौके से ही डीएम से इसकी शिकायत की।

लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी

विधायक ने कहा कि सरकारी निर्देश के बावजूद अधिकारियों द्वारा आपदा की घड़ी में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि डीएम ने सीओ को अविलंब भोजन मुहैया कराने का निर्देश दिया है। इस संबंध में सीओ ने बताया कि प्रवासियों के भोजन के लिए कच्चे समान की आपूॢत की जा रही है। विद्यालय के रसोइयों को खाना तैयार करने का निर्देश दिया गया है। मौके पर केंद्र प्रभारी जेके राय, रविंद्र पटेल थे।

क्वारंटाइन सेंटर पर किया हंगामा

मुशहरी प्रखंड के मध्य विद्यालय सुतिहारा स्थित क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों को रखे जाने पर उनके स्वजनों व ग्रामीणों ने शुक्रवार की रात जमकर हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझाकर शांत किया। लोगों का कहना था कि मुखिया बाहर से आए संपन्न परिवार के लोगों को होम क्वारंटाइन में रहने की इजाजत दे रहे हैं, जबकि श्रमिकों को जबरन क्वारंटाइन सेंटर में रखवा रहे हैं। इस संबंध में मुखिया प्रमोद रजक ने बताया कि मणिका हरिकेश पंचायत में छह प्रवासी क्वारंटाइन पर हैं।50 से अधिक प्रवासी स्कूल स्थित क्वारंटाइन सेंटर में रहने को तैयार नहीं हंै। इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दे दी गई है। 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…