Home क्राइम छोटू और रहमत मियां गिरोह के बीच हुई थी मारपीट, पुलिस ने कहा-होगी सख्त कार्रवाई

छोटू और रहमत मियां गिरोह के बीच हुई थी मारपीट, पुलिस ने कहा-होगी सख्त कार्रवाई

3 second read
0
0
14

भागलपुर । जिले के मोजाहिदपुर थाना के बड़ी महल इलाके में वर्चस्व को लेकर दो गुटों के बीच शुक्रवार की रात करीब नौ बजे जमकर फायरिंग हुई थी। दोनों पक्षों के बीच मारपीट, लात-घूंसे भी चले। इस घटना से इलाके में अब भी दहशत है। इस घटना में रहमत मियां, मु. रिंकू समेत आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए थे।

रविवार को भी पुलिस वहां जांच के लिए पहुंची। पुलिस ने कहा कि दो अपराधियों की गुटों में विवाद हुआ था। दोनों गुटों में फायरिंग और मारपीट हुई थी।

घटना के बाद मोजाहिदपुर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी, जहां दो कारतूस और चार खोखे मिले थे। मोजाहिदपुर थानाध्यक्ष प्रमोद साह के अनुसार रहमत मियां और छोटू मियां का आपराधिक रिकार्ड रहा है। दोनों में पहले दोस्ती थी। किसी बात को लेकर बीच विवाद हुआ था, जिस पर दोनों गुट आपस में भिड़ गए।

कसाव टोला निवासी रहमत ने पुलिस को बताया कि मारूफचक से घर लौटने के क्रम में शहबाजनगर के छोटू मियां, इमरान मुर्गा, तौसिफ उर्फ फुच्चो व चार-पांच अज्ञात लोगों ने रास्ते में उस पर हमला कर दिया। उसके साथ मारपीट की। रिवाल्वर के बट से प्रहार कर उसे और उसके चचेरे भाई ङ्क्षरकू को जख्मी कर दिया। इस दौरान छोटू और उसके साथियों ने कई राउंड फायरिंग की। वे बाल-बाल बचे। वहीं छोटू के मोहल्ले वालों का कहना है कि रहमत मियां और उसके गुर्गों ने छोटू के घर पर धावा बोल दिया।

मारपीट की और कई चक्र गोलियां चलाई। मोहल्ले वालों ने हमलावरों को वहां से खदेड़ दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि दोनों की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। छोटू के घर के पास और बड़ी महल के पास से खोखा और कारतूस बरामद हुआ है। दोनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। चूंकि घटना की शुरुआत मारूफचक से हुई थी, इसलिए एक मुकदमा बबरगंज ओपी में दर्ज होगा।

इधर, इस घटना के बाद से लोगों में दहशत हैं। पुलिस लगातार दोनों गिरोहों के सदस्‍यों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही है। 

Load More By Bihar Desk
Load More In क्राइम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

झारखंड के धनबाद जिला अंतर्गत आमाघाटा मौजा में 30 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के बेनामी जमीन का हुआ खुलासा

धनबाद : 10 एकड़ से अधिक भूखंड का कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है. बाजार दर से इस जमीन की क…