Home झारखंड Lockdown 4.0: झारखंड में रियायत की उम्मीद कम, जानें हेमंत सरकार का रुख

Lockdown 4.0: झारखंड में रियायत की उम्मीद कम, जानें हेमंत सरकार का रुख

4 second read
0
0
28

रांची. देश में एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown 4.0) 31 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है. रविवार को केद्र सरकार ने लॉकडाउन की मियाद दो हफ्ते तक बढ़ाने की घोषणा की. हालांकि, झारखंड सरकार (Jharkhand Government) अब तक इसको लेकर फैसला नहीं ले पाई है. संभव है कि सरकार सोमवार को इस पर निर्णय लेकर महत्‍वपूर्ण ऐलान करे. प्रदेश सरकार की ओर से इस बात के संकेत पहले ही दिये गये हैं कि वह लॉकडाउन-4 को लेकर केन्द्र के निर्णय के साथ जाएगी. लेकिन, कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों ने हेमंत सरकार की चिंता बढ़ा दी है. प्रवासी मजदूरों की वापसी और पवित्र रमजान में भीड़भाड़ बढ़ने की संभावना को देखते हुए रियायतों की उम्मीद कम दिख रही है.राज्य सरकार ने अब तक जो संकेत दिये हैं, उसके अनुसार झारखंड में शराब की दुकानें को शर्तों के साथ खोलने की छूट दी जा सकती है. शराब की ऑनलाइन बिक्री और होम डिलिवरी की तैयारी चल रही है. साथ ही रियल एस्टेट सेक्टर को भी छूट दी जा सकती है. इससे जुड़ी सीमेंड, छड़, बालू और हार्डवेयर की दुकानें खुल सकती हैं. बिजली के उपकरण, मोबाइल और अन्य चीजों के रिपेयरिंग से जुड़ीं दुकानों को भी रियायत दी जा सकती है. वहीं, जिन इलाकों में अभी एक भी कोरोना मरीज नहीं मिले हैं, वहां लॉकडाउन को खोला जा सकता है. सभी तरह के सामानों की होम डिलिवरी की भी इजाजत दी जा सकती है. जरूरी पास होने पर अंतरराज्‍यीय यात्रा को भी मंजूरी दी जा सकती है. ऑटो और सार्वजनिक परिवहनों के परिचालन में भी ढील की उम्‍मीद है. इस बात के भी कयास हैं कि प्रदेश के ग्रीन जोन वाले जिलों में अधिक से अधिक रियायतों के साथ सार्वजनिक स्‍थानों, बड़े सामाजिक समारोहों और शैक्षिक संस्थानों को छोड़कर लगभग सभी गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत दे दी जाए.

इससे पहले 17 मई तक लागू लॉकडाउन 3.0 में झारखंड सरकार ने केंद्र के दिशा-निर्देशों से अलग सख्त रुख अपनाया. गृह मंत्रालय की ओर से दिये गये छूटों को किनारा करते हुए केंद्र के निर्देशों को राज्य में लागू नहीं किया, लेकिन लॉकडाउन 4.0 को लेकर हेमंत सरकार का रवैया केन्द्र के फैसले के साथ जाने का है. हालांकि, प्रदेश लौट रहे प्रवासी मजदूरों के साथ कोरोना के बढ़ रहे मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है. इसलिए सरकार ज्यादा रियायत न देकर फूंक-फूंक कर कदम उठाना चाह रही है. बता दें कि प्रदेश में अब 24 में से 17 जिले कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. कोरोना संक्रमित की संख्या 223 पर पहुंच गई है. इनमें से 108 ठीक हो गये हैं. तीन की मौत हो चुकी है. कुल एक्टिव केस फिलहाल 112 है.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर सीएम नीतीश ने दी बधाई, कही ये बात, पढ़ें

बिहार के सीएम ने  बुद्ध पूर्णिमा के पावन अवसर पर प्रदेश एवं देशवासियों को बिहार के रा…