Home ताजा खबर बिहार में दो रुपये महंगे होंगे पेट्रोल-डीजल, सरकार ने बढ़ाई वैट दरें

बिहार में दो रुपये महंगे होंगे पेट्रोल-डीजल, सरकार ने बढ़ाई वैट दरें

8 second read
0
0
44

पटना । बिहार में अब पेट्रोल-डीजल करीब दो रुपये प्रति लीेटर महंगे हो जाएंगे। सोमवार को सरकार ने पूर्व से प्रभावी वैट ( वैल्यू एडेड टैक्स) की दरों में परिवर्तन कर दिया। इस प्रस्ताव पर मंत्रिमंडल ने भी सहमति दे दी है। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में पेट्रोल-डीजल पर लागू वैट की दरों में संशोधन समेत आठ प्रस्तावों पर स्वीकृति दी। पूर्व की भांति लॉकडाउन को देखते हुए इस बार भी बिहार कैबिनेट की बैठक वीेडियो कान्फ्रेंस के जरिए हुई। 

दो तरह की थीं वैट दरें

कैबिनेट (मंत्रिमंडल) की बैठक के बाद कैबिनेट विभाग से मिली जानकारी के अनुसार राज्य में अब तक वैट की दो दरें प्रभावी थीं। पेट्रोल की दर यदि 65 रुपये से अधिक है तो 22 प्रतिशत वैट लगता था। इसी प्रकार यदि पेट्रोल की कीमत 65 रुपये से कम है तो 26 प्रतिशत वैट लगता था। डीजल में यह दर 64 रुपये प्रति लीेटर से कम रहने पर 19 परसेंट और 64 रुपये से अधिक रहने पर 15 परसेंट थी। पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार होने वाले उतार-चढ़ाव से राजस्व का काफी नुकसान होता था।

दोनों में दो-दो रुपये का इजाफा होगा

इसके बाद सरकार ने राजस्व में वृद्धि के इरादे से अब वैट की नई दरें प्रभावी की हैं। मंत्रिमंडल के फैसले के बाद पेट्रोल की कीमत कुछ भी रहने पर उस पर 26 परसेंट वैट या 16.65 पैसे सरकार को देने होंगे। इसी प्रकार डीजल की किसी भी कीमत पर 19 परसेंट वैट अथवा 12.33 पैसे सरकार लेगी। स्पष्ट कर दें कि जो कीमत अधिक होगी उसी के आधार पर राशि ली जाएगी। सरकार के फैसले के बाद इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन से मिली जानकारी के अनुसार सरकार के फैसले के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमत में करीब दो-दो रुपये की वृद्धि हो जाएगी। 

पटना में ड्रेनेज पंपिंग स्टेशन के लिए 504 पद

पिछले वर्ष बरसात के मौसम में पटना में काफी जल-भराव हुआ था। एक बार पुन: मानसून का मौसम आ रहा है। जिसे देखते हुए मंत्रिमंडल ने पटना नगर निगम क्षेत्र में ड्रेनेज पङ्क्षम्पग स्टेशन  के संचालन के लिए 17.42 करोड़ रुपये की लागत पर विभिन्न श्रेणी के 504 पदों के सृजन की मंजूरी भी दी है। 

आर्सेनिक प्रभावित 252 गांवों में शुद्ध पानी की आपूर्ति

मंत्रिमंडल ने लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के दो प्रस्ताव पर विमर्श के बाद सर्वाधिक आर्सेनिक प्रभावित बेगूसराय के मटिहानी, बरौनी व बेगूसराय एवं भागलपुर के कहलगांव एवं पीरपैंती के कुल 252 गांवों मे शुद्ध पानी आपूॢत के लिए पुर्व की योजनाओं को पुनरीक्षित करते हुए क्रमश : 2.53 करोड़ और 2.67 करोड़ रुपये की योजना स्वीकृत की है। 

59 पीठासीन पदाधिकारियों के पद को अवधि विस्तार

मंत्रिमंडल ने शिक्षक एवं कर्मचारी शिकायत निवारण नियमावली 2013 के तहत सभी जिले में गठित अपीलीय प्राधिकार में नियुक्त 59 पीठासीन पदाधिकारियों क 31 जुलाई तक का अवधि विस्तार देने का प्रस्ताव मंजूर किया है। 

अन्य फैसले 

  • दरभंगा के जिला अवर निबंधन कार्यालय के क्षेत्राधिकार से बहेड़ी, मनीगाछी एवं ताराडीह अंचल को हटकार बहेड़ा के क्षेत्राधिकार में शामिल करने व दरभंगा एवं बहेड़ा के क्षेत्राधिकार का नए सिरे से निर्धारण करने का प्रस्ताव मंजूर
  • बिहार पशु एवं मत्स्य संसाधन सेवा भर्ती नियमावली 2007 में संशोधन का प्रस्ताव मंजूर। मत्स्य विज्ञान में पास उम्मीदवारों को मिलेगा वेटेज। 
  • किशनगंज के टेढ़ागाछ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर को 2012 से अनुपस्थित रहने के बाद सेवा के बर्खास्त करने का प्रस्ताव मंजूर
Load More By Bihar Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की नई गाइडलाइन मिलने के बाद ही होगी

रांची: स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग यह गाइडलाइन मिलने के बाद उसके अनुसार, नियमावली में…