Home झारखंड बोकारो स्टील प्लांट में लगातार हो रहे हादसे पर डीसी ने मांगा स्पष्टीकरण

बोकारो स्टील प्लांट में लगातार हो रहे हादसे पर डीसी ने मांगा स्पष्टीकरण

4 second read
0
0
12

बोकारो. बोकारो स्टील प्लांट (Bokaro Steel Plant) में एक सप्ताह के अंदर तीन दुर्घटनाओं (Accident) ने व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है. इन हादसों ने जिला प्रशासन को भी सकते में डाल दिया है. बीएसएल में अगल मंथन चल ही रहा है. इस बीच जिले के डीसी मुकेश कुमार ने बीएसएल के मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष से इन घटनाओं पर स्पष्टीकरण मांगा है. साथ ही एसडीओ के नेतृत्व में चार सदस्यीय कमिटी गठन कर इन हादसों पर एक जांच रिपोर्ट देने को कहा है. ऐसा पहली बार हुआ है कि जब किसी डीसी ने बीएसएल के कार्यकारी अध्यक्ष में इस तरह स्पष्टीकरण मांगा हो. जिस तरह हाल के दिनों में बोकारो इस्पात संयंत्र में नाइट्रोजन गैस का रिसाव, डीजल टैंक में आग, श्रमिकों का करंट से झुलसना जैसी दुर्घटनाएं हुईं हैं, यह इशारा करता है कि संयंत्र में सुरक्षा मानकों का ख्याल नहीं रखा जा रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 30 एवं 32 के विभिन्न उपधाराओं के तहत उपायुक्त सह अध्यक्ष, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण मुकेश कुमार ने एक आदेश पारित कर बोकारो इस्पात संयंत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी से जवाब मांगा है कि किस स्तर से चूक हो रही है. साथ में यह भी कहा है कि झुलसे श्रमिकों का समुचित इलाज कराया जाए.बोकारो इस्पात संयंत्र में हुए दुर्घटना पर उपायुक्त ने चार सदस्यीय समिति का गठन कर दिया है. समिति में अनुमंडल पदाधिकारी चास शशि रंजन सिंह अध्यक्ष होंगे, जबकि सिटी डीएसपी ज्ञान रंजन, श्रम अधीक्षक, अंचल अधिकारी दिवाकर प्रसाद सदस्य होंगे. समिति विभिन्न मानकों पर जांच कर प्रतिवेदन उपायुक्त को सौपेंगी. उपायुक्त सह अध्यक्ष, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यह भी जानकारी मांगी है कि अन्य इकाइयों में सुरक्षा मानकों का किस प्रकार से ख्याल रखा जा रहा है.

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राज्य में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टेट) राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की नई गाइडलाइन मिलने के बाद ही होगी

रांची: स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग यह गाइडलाइन मिलने के बाद उसके अनुसार, नियमावली में…