Home क्राइम रोहित हत्याकांड: बिहार के डीजीपी बोले, जांच जारी है, दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा

रोहित हत्याकांड: बिहार के डीजीपी बोले, जांच जारी है, दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा

6 second read
0
0
80

पटना। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने गोपालगंज जिले के रोहित हत्याकांड से जुड़ी कई जानकारियों को फेसबुक लाइव के माध्यम से साझा किया। उन्होंने कहा कि रोहित हत्याकांड को लेकर वे खुद गोपालगंज में कैंप किए हुए हैं। जांच के बाद मामले में दूध का दूध व पानी का पानी सामने आ ही जाएगा। उन्होंने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील भी की है। 

शनिवार को डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय गांव पहुंचे। डीजीपी ने  मामले की कई बिंदुओं पर पड़ताल की। मृतक के परिजनों ,ग्रामीणों व स्थानीय मीडियाकर्मियों से बातचीत कर तथ्यों को जुटाया। 50 दिनों के बाद मामले के तूल पकड़ने व सोशल मीडिया व पोर्टलों पर तरह -तरह की भ्रामक व आधारहीन खबरें चलने के बाद वे स्वयं जांच करने के लिए पहुंचे थे।

डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने मामले की छानबीन के बाद कहा कि रोहित की डूब जाने से मौत हुई या हत्या, इसका अनुसंधान चल रहा है। जल्द ही इसका खुलासा हो जाएगा। लेकिन,इसे पोर्टल व सोशल मीडिया में संप्रदायिक रंग देने का प्रयास किया जाना गलत है। इससे समाज में विद्वेष फैलेगा। ऐसे शरारती तत्वों की हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  उल्लेखनीय है कि रोहित हत्याकांड की जांच सीआईडी को  सौंप दी गई है। सीआईडी इसका अनुसंधान करने में जुटी है। 

रोहित की हत्या के मामले में उसके पिता के बयान पर छह लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इसमें चार आरोपित नाबालिग थे। जिसके कारण जुबेनाइल कोर्ट ने कोरोना महामारी के कारण बॉन्ड भरवाकर छोड़ा है। एक आरोपित अब भी फरार चल रहा है।

डीआईजी भी कर चुके हैं जांच

रोहित हत्याकांड में विगत कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर लगातार भ्रामक खबरें चलने के बाद बुधवार को सारण डीआईजी विजय कुमार वर्मा ने भी कई वरीय पुलिस पदाधिकारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंच कर जांच-पड़ताल की थी।

वीडियो  हुआ था वायरल

रोहित की हत्याकांड में फरार चल रहे एक आरोपित की गिरफ्तारी की मांग करने थाने पर गए परिजनों के साथ गाली-गलौज करने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा था। वायरल वीडियो में कटेया थानाध्यक्ष गाली-गलौज करते सुने जा रहे थे।

क्या है मामला 

गोपालगंज जिले के कटेया थाने के बेलही डीह गांव के राजेश जायसवाल के पुत्र रोहित कुमार का शव 29 मार्च को खनुआ नदी से बरामद किया गया था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया था। बताया गया है कि 28 मार्च को रोहित गांव के चार-पांच लड़कों के साथ खनुआ नदी में स्नान करने के लिए गया था। देर शाम वह घर नहीं लौटा था। परिजन उसकी खोजबीन कर रहे थे। इस दौरन 29 मार्च को पता चला कि वह नदी में डूब गया है। परिजनों ने छह लड़कों पर हत्या करने का आरोप लगाया था।

Load More By Bihar Desk
Load More In क्राइम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार के इस बच्चे की बॉलीवुड एक्ट्रेस गौहर खान करेंगी मदत, पढ़ें

छठी क्लास में पढ़ने वाले 11 साल के सोनू कुमार ने हाल ही बिहार के सीएम नीतीश कुमार के सामने…