Home बड़ी खबर 30 हजार यात्री आए दानापुर, लॉकडाउन बना मजाक, तमाशा देखते रहे अफसर

30 हजार यात्री आए दानापुर, लॉकडाउन बना मजाक, तमाशा देखते रहे अफसर

6 second read
0
0
144

पटना । रविवार की दोपहर प्रवासियों से भरी सूरत से एक ट्रेन दानापुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर रुकती है। ट्रेन रुकते ही खचाखच भरे यात्री उतरने लगते हैं। यात्रियों के उतरते ही अफरा-तफरी मच जाती है, जिसको जहां मन आता है वह उस तरफ भागने लगता है। प्लेटफॉर्म पर सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर गोले तो बनाए गए थे, लेकिन प्रवासियों की भीड़ में गोले भी गुम हो गए। भीड़ जनसभा की तरह इकट्ठा हुई, जिससे लॉकडाउन का पूरा नियम ही टूट गया। सोशल डिस्टेंसिंग का खुलकर मजाक उड़ा। कोई बच्चों को लेकर भाग रहा था। स्क्रीनिंग भी जैसे-तैसे हो रही थी। भीड़ में कोई किसी को कुछ बताने वाला नहीं था। कोई ट्रेन और बस के लिए इधर-उधर भाग रहा था तो कोई खाने-पीने के सामान के लिए नियम तोड़ रहा था। 

प्लेटफॉर्म पर प्रवासियों की इतनी भीड़ जमा हो गई कि प्रशासन का पूरा प्लान फेल हो गया। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए प्रशासन ने शुरू में हाथ पैर मारे लेकिन प्रवासियों का मेला प्लेटफॉर्म पर लगा रहा। यह ट्रेन तो महज बानगी है, दानापुर आने वाली सभी ट्रेनों का हाल ऐसा ही रहा। प्लेटफॉर्म पर सामान्य दिनों से अधिक भीड़ दिखी। यात्रियों की भीड़ को अगर नियंत्रित न किया गया और इसी तरह सोशल डिस्र्टेंंसग के नियम टूटते रहे तो प्रदेश में कोरोना का संक्रमण थमने की जगह और ज्यादा फैलने लगेगा।

जांच के नाम पर खानापूर्ति
दानापुर में प्रवासियों की भीड़ स्क्र्रींनग पर भारी पड़ गई। डीएम-एसएसपी के साथ अन्य अफसर दानापुर रेलवे स्टेशन पर मौजूद थे, लेकिन भीड़ में हर किसी की व्यवस्थित ढंग से स्क्र्रींनग कराना आसान नहीं था। हालांकि जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि हर एक यात्री की स्क्र्रींनग की गई है, यात्रियों की भीड़ और व्यवस्था देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्क्र्रींनग किस तरह से की गई।

पटना में चार नए पॉजिटिव
रविवार को पटना में चार नए संक्रमित मिले हैं। ये कुम्हरार, मंदिरी, संपतचक और दीदारगंज के रहने वाले हैं। दीदारगंज, संपतचक और कुम्हरार के प्रवासी एनएमसीएच में भर्ती हैं। चारों देश के हॉट स्पॉट शहर हरियाणा, सूरत, हैदराबाद और मुम्बई से हाल ही में लौटे हैं। इधर, रविवार की सुबह एनएमसीएच में 60 वर्षीय कोरोना संक्रमित राम प्रवेश पंडित की मौत हो गई। वह सीवान के मझौलिया का रहने वाला था। नोडल कोरोना सेंटर में मरने वालों की संख्या अब पांच हो गई, जबकि प्रदेश में कोरोना से यह 13वीं मौत है।

रविवार को 45 ट्रेनें आई हैं। प्रवासियों की स्क्र्रींनग कर उन्हें  ट्रेन और बस से भेज दिया गया है। दानापुर स्टेशन पर सुरक्षा के साथ  प्रवासियों के खाने का इंतजाम किया गया था।
-कुमार रवि, डीएम 

Load More By Bihar Desk
Load More In बड़ी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार में जल्द ही दे सकता है मानसून दस्तक, पढ़ें और जाने

मंगलवार को पटना समेत प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में हुई बारिश से तापमान में गिरावट दर्ज की …