Home देश आरबीआई ने बैंको को मुनाफे अपने पास रखने के लिए आखिर क्यों कहा? जाने

आरबीआई ने बैंको को मुनाफे अपने पास रखने के लिए आखिर क्यों कहा? जाने

1 second read
0
0
38

आरबीआई ने कोरोना वायरस महामारी के कारण आये आर्थिक व्यवधान को देखते हुए, वाणिज्यिक बैंकों और सहकारी बैंकों से शुक्रवार को कहा कि वे मार्च 2020 में समाप्त हुए वहीं वित्त वर्ष का मुनाफा अपने पास रखें।

रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंकों को 2019-20 के लिये डिविडेंड का भुगतान करने की जरूरत नहीं है।
केंद्रीय बैंक ने महामारी के चलते कायम दबाव तथा बढ़ी अनिश्चितता का हवाला देते हुए कहा कि ऐसे समय में अर्थव्यवस्था को सहारा देने और कोई हानि होने की स्थिति में उसे संभाल लेने के लिये बैंकों के द्वारा पूंजी को संरक्षित रखना जरूरी है।

आपको बता दे रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि महामारी की प्रतिक्रिया में केंद्रीय बैंक ने कर्जदारों के बीच दिक्कतों का समाधान करने और वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करते हुए अर्थव्यवस्था में लोन का प्रवाह बनाये रखने पर ध्यान दिया है।

उन्होंने कहा, इस प्रयास को आगे बढ़ाते हुए तथा नये कर्ज वितरण की गुंजाइश बनाते हुए बैंकों को पूंजी संरक्षण में मदद करने के लिये एक समीक्षा के बाद यह निर्णय लिया गया है कि वाणिज्यक व सहकारी बैंक वित्त वर्ष 2019-20 के लिये लाभ अपने पास ही रखेंगे और वे किसी प्रकार का लाभांश नहीं देंगे।

इस बारे में दिशानिर्देश शीघ्र ही जारी किये जायेंगे. रिजर्व बैंक ने अप्रैल में कहा था कि विनियमित वाणिज्यिक बैंक और सहकारी बैंक 31 मार्च 2020 को समाप्त हुए वित्त वर्ष के लिये अगले आदेश तक लाभ से किसी तरह के लाभांश का भुगतान नहीं करेंगे

जानकारी के अनुसार इस बारे में दिशानिर्देश शीघ्र ही जारी किये जायेंगे. रिजर्व बैंक ने अप्रैल में कहा था कि विनियमित वाणिज्यिक बैंक और सहकारी बैंक 31 मार्च 2020 को समाप्त हुए वित्त वर्ष के लिये अगले आदेश तक लाभ से किसी तरह के लाभांश का भुगतान नहीं करेंगे

Load More By Bihar Desk
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय की आज मुलाकात, तलाक की बात पर होगी चर्चा ! पढ़ें

ऐश्वर्या राय के तलाक के मुकदमे में आज अहम सुनवाई का दिन है। आज दोनों के बीच मुलाकात होगी। …