Home क्राइम सीआईडी में फर्जीवाड़े का पर्दाफाश,दस साल बाद हुआ, नौकरी से निलंबित,आगे पढ़ें

सीआईडी में फर्जीवाड़े का पर्दाफाश,दस साल बाद हुआ, नौकरी से निलंबित,आगे पढ़ें

0 second read
0
0
201

राजधानी पटना के नवीन पुलिस लाइन के रहने वाले कांस्टेबल शशिशंकर सिंह पिछले दस वर्षों से दूसरे के नाम व गलत उम्र प्रमाण पत्र पर नौकरी कर रहे थे। पुलिस ने ख़ुफ़िया टीम बना कर

वह सीआइडी में पदस्थापित थे और नवीन आरक्षी केंद्र में रहते थे। शिकायत मिलने पर जब इसकी जांच कराई गई तब आरोप सही पाया गया और उन्हें तत्काल बिहार पुलिस की सेवा से बर्खास्त किया गया।

इस संबंध में नवीन आरक्षी केन्द्र के पुलिस उपाधीक्षक प्रारक्ष द्वारा स्थानीय बुद्धा कालोनी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बुद्धाकालोनी थानाध्यक्ष ने आरोपी कांस्टेबल शशिकांत सिंह को गिरफ्तार कर लिया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि पुलिस में तैनात शशिकांत सिंह पिछले दस साल से गलत नाम व उम्र के प्रमाण पत्र पर कांस्टेबल के रूप में तैनात था। वर्तमान में वह सीआइडी में तैनात था।

छपरा के दीघवारा थाना क्षेत्र के आमी गांव का रहने वाला है। उसका वास्तविक नाम शिवशंकर सिंह और जन्मतिथि 1962 है। वह फर्जी तरीके से 1974 का जन्मतिथि प्रमाण पत्र संलग्न कर कांस्टेबल की नौकरी कर रहा था।

Load More By Bihar Desk
Load More In क्राइम

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार विधानसभा का सत्र समापन पर राष्ट्रगीत वंदेमातरम से करने की परंपरा है: सुशील मोदी

बिहार विधानसभा में राष्‍ट्र गीत ‘वंदे मातरम’ के अपमान के मसले पर बीजेपी ने राज…