Home झारखंड झारखंड में भारत बंद का आंशिक असर, जबरन बंद कराई दुकानें

झारखंड में भारत बंद का आंशिक असर, जबरन बंद कराई दुकानें

4 second read
0
0
354

रांची:  नए कृषि कानून के विरोध में किसानों द्वारा बुलाए गए भारत बंद का झारखंड में आंशिक असर रहा। स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं को भारत बंद से अलग रखा गया। झारखंड के पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर में बंद समर्थकों ने चौक जाम कर नारेबाजी की। इसके बाद मेदिनीनगर शहर के छहमुहान जाम कर दिया। रांची में सिख संगठनों ने जुलूस निकालकर बंद का समर्थन किया। राजनीतिक दलों के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जबरन दुकानें बंद कराईं। रांची के खादगढ़ा बस स्टैंड पर ऑटो चलते नजर आए।

मंत्री आलमगीर आलम बंद समर्थकों का साथ देने के लिए सड़क पर उतर आए। कांटा टोली, डोरंडा आदि जगहों पर दुकानें खुलीं रही। लोगों का आना-जाना सामान्य रूप से लगा हुआ था। रांची के खादगढ़ा बस स्टैंड से बसों का परिचालन सामान्‍य दिनों की तरह रहा। हजारीबाग, कोडरमा समेत अन्य जगहों के लिए बसें रवाना हुईं।

गोड्डा के जियाजोरी रेलवे ट्रैक पर सीपीआइएम, सीपीआइ, कांग्रेस के नेताओं ने विरोध प्रदर्शन कर रेलवे ट्रैक को घंटों बाधित कर दिया। रांची के नामकुम में झामुमो कार्यकर्ताओं ने बंद कराया। यहां बंद का मिला-जुला असर दिखा। ज्यादातर प्रतिष्ठानें खुलीं रहीं।

दूसरी ओर पुलिस माइक लेकर बंद का आह्वान करने वाले बंद समर्थकों को समझाती नजर आई। रांची रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का आवागमन सामान्य रूप से जारी रहा। इधर, राज्‍य के कई जगहों पर किसान अपने-अपने खेत में काम करते हुए नजर आए। उनका कहना है कि आज भारत बंद है, यह उन्‍हें मालूम नहीं है। रांची में कई जगह पुलिस बंद समर्थकों को समझाती हुई नजर आई। हालांकि बंद समर्थक पुलिस की मौजूदगी में नारेबाजी और प्रदर्शन करते नजर आए।

गोड्डा में झामुमो, कांग्रेस और वाम दलों के कार्यकर्ताओं ने कारगिल चौक पर धरना दिया। इसके कारण यहां लंबा जाम लगा। देवघर में राजद-झामुमो और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने टावर चौक को जाम कर दिया। गिरिडीह में बंद असरदार नजर आया। बंद को सफल बनाने के लिए सुबह से ही झामुमो, भाकपा माले एवं भीम आर्मी के समर्थक सड़कों पर निकल पड़े। माले के गढ़ बगोदर में सुबह दस बजे तक बंद समर्थक सड़कों पर नहीं निकले थे। 

धनबाद में जिंदगी आम दिनों की तरह रही। कोई से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली। रांची के बेड़ो इलाके में भारत बंद का असर दिखा। बेड़ो प्रखंड मुख्यालय सहित सब्जी मंडी बंद रहा। सुबह से ही कांग्रेस सहित कई संगठनों के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे और प्रदर्शन किया। दुकानें बंद कराई।

झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स ने बंद का विरोध किया। उसका कहना है कि कोरोना वायरस से लोग उबर रहे हैं। बंद से व्‍यापारियों को परेशानी होगी। रांची विश्‍वविद्यालय में आज होने वाला जापानी भाषा का इंडक्‍शन प्रोग्राम स्‍थगित कर दिया गया। इसके अलावा डॉ. श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी विश्‍विविद्यालय में होने वाले स्‍नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षा को भी स्‍थगित कर दिया गया।

इससे पूर्व सोमवार को ट्रेड यूनियनों, श्रमिक फेडरेशन और कर्मचारी एसोसिएशन की झारखंड इकाइयों ने भी भारत बंद का सक्रिय रूप से समर्थन करने का एलान किया। विभिन्न सांस्कृतिक और साहित्यिक संगठन, छात्रों, युवाओं, महिलाओं के संगठनों ने भी भारत बंद का समर्थन किए जाने की घोषणा की। बस और ट्रक ऑनर्स एसोसिएशन तथा ऑल इंडिया रोड ट्रांसपोर्ट वर्कर्स फेडरेशन ने भी देशव्यापी ट्रांसपोर्ट हड़ताल का आह्वान किया।

सोमवार को बंद की पूर्व संध्‍या पर वाम और अन्‍य राजनीतिक पार्टियों ने पूरे राज्य में दो हजार से ज्यादा स्थानों पर मशाल जुलूस निकाला। रांची में वामदलों-माकपा, भाकपा, भाकपा (माले), मासस, फाॅरवर्ड ब्लाॅक समेत विभिन्न ट्रेड यूनियनों, जन संगठनों, छात्र-युवा संगठनों और महिला संगठनों ने सैनिक बाजार से मशाल जुलूस निकाला और महात्मा गांधी मार्ग होते हुए अल्बर्ट एक्का चौक पर पहुंच कर बंद के समर्थन में नारे लगाए और सभा की।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

तेज प्रताप और ऐश्वर्या राय की आज मुलाकात, तलाक की बात पर होगी चर्चा ! पढ़ें

ऐश्वर्या राय के तलाक के मुकदमे में आज अहम सुनवाई का दिन है। आज दोनों के बीच मुलाकात होगी। …