Home Breaking News बिहार:- आईपीएस अरविंद पांडे पर 23 साल बाद कार्रवाई, ये थी वज़ह

बिहार:- आईपीएस अरविंद पांडे पर 23 साल बाद कार्रवाई, ये थी वज़ह

0 second read
0
0
162

बिहार में एक आईपीएस अधिकारी पर 23 साल बाद हत्या के मामले में सरकार ने कार्रवाई करते हुए चार वेतन वृद्धियों पर रोक लगाने का आदेश दिया है। मामला प्रखंड विकास पदाधिकारी भवनाथ झा की हत्या से जुड़ा है। 

बिहार के मनातू प्रखंड के बीडीओ की हत्या मामले में लापरवाही बरतने का मामला बताया जाता है कि मनातू प्रखंड के बीडीओ भवनाथ झा की हत्या के समय 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी अरविंद पांडेय पलामू जिला के एसपी थे।

वर्ष 97 में जब उग्रवादियों ने बीडीओ भवनाथ झा की हत्या की तो उस समय यह आरोप लगा कि पुलिस कप्तान रहते अरविंद पांडेय ने जिम्मेदारियों को सही तरीके से नहीं निभाया।

24 दिसंबर 97 से विभागीय कार्रवाई के बाद 23 साल बाद आईपीएस की कार्यशैली में लापरवाही पाई गई। इस गंभीर मामले में आईपीएस अरविंद पांडेय के खिलाफ गृह विभाग ने विभागीय कार्रवाई करते हुए उनके वर्तमान वेतन से दो वेतन वृद्धियां घटाने और भविष्य में दी जाने वाली दो वेतन वृद्धि पर रोक लगा दी है।

Load More By Bihar Desk
Load More In Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

जदयू के खिलाफ़ बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने की बयानबाज़ी, कही ये बात, पढ़ें

बिहार विधानमंडल का मानसून सत्र शुक्रवार से शुरुआत हो गई है। 30 जून तक चलने वाले सत्र में स…