Home देश एक वायरस ने बदल डाली देश में चलने वाली इन ट्रेनों की टाइम टेबल

एक वायरस ने बदल डाली देश में चलने वाली इन ट्रेनों की टाइम टेबल

2 second read
0
0
315

नई दिल्ली : देश में लॉकडाउन के बाद भारतीय रेलवे ने कई ट्रेनों के टाइम-टेबल में बदलाव किया है। वहीं मार्च के अंतिम सप्ताह में हुए लॉकडाउन के बाद से ही नियमित ट्रेनों का संचालन नहीं किया जा रहा है।

साथ हि आपको बता दे मौजूदा समय में देश में 700 से भी ज्यादा स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इसके अलावा मुंबई और कोलकाता जैसे मेट्रो शहरों में उप शहरी ट्रेन भी चलाए जा रहे हैं।

ऐसे में खासकर बिहार और यूपी जाने वाली कई महत्वपूर्ण ट्रेनों के टाइमिंग में परिवर्तन हुए हैं। दिल्ली-यूपी-बिहार के बीच चलने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस, वैशाली एक्सप्रेस और स्वतंत्रता सेनानी जैसी एक्सप्रेस ट्रेनों के टाइम टेबल में काफी बदलाव किए गए हैं।

आपको बता दे भारतीय रेलवे ने जयनगर से नई दिल्ली के लिए चलने वाली गाड़ी संख्या 02561 स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस को 2 बजे के बजाय अब शाम 5.40 बजे कर दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक विक्रमशिला स्पेशल सुपरफास्ट ट्रेन अब आनंद विहार टर्मिनल से दोपहर 2.40 बजे चलने के बजाए अब दोपहर 1.15 बजे खुल रही है।

बता दे विक्रमशिला एक्सप्रेस अब दिल्ली के आनंद विहार रेलवे जंक्शन से पटना जंक्शन महज 13 घंटे में तय करेगी।नए टाइम टेबल के अनुसार अब पटना जंक्शन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस सुबह 2.10 बजे पहुंचेगी।

फिलहाल 10 मिनट रुकने के बाद 2.20 बजे सुबह भागलपुर जंक्शन के लिए निकल जाएगी। अब विक्रमशिला एक्सप्रेस दोपहर 12.25 बजे के बजाय 4.10 घंटे पहले सुबह 8.15 बजे ही भागलपुर पहुंच जाएगी।

इसी तरह ट्रेन संख्या 02553 सहरसा-नई दिल्ली वैशाली एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन अब सहरसा स्टेशन से सुबह में 06.46 बजे खुल रही है। नई दिल्ली रेलवे स्टेशन अब यह ट्रेन सुबह 06.25 बजे पहुंच रही है।

साथ हि वैशाली डाउन ट्रेन संख्या 02554 अब नई दिल्ली से शाम 20.40 बजे प्रस्थान करके अगले दिन रात 20.20 बजे सहरसा पहुंच रही है।

जानकारों का मानना है कि लॉकडाउन की वजह से ट्रेनों का संचालन जब पूरी तरह से बंद था, तब पटरियों की मरम्मति पर खूब तेजी से काम हुए।

इसी का नतीजा है कि अब बिहार और यूपी की ट्रेन रूट्स पर ट्रेनों की रफ्तार पहले के तुलना में काफी बढ़ गई है।

बिहार और यूपी में भारतीय रेलवे ने लॉकडाउन के दौरान खूब तेजी से काम किए। कई अटके प्रोजेक्ट्स को पूरा किया गया।

वहीं आपको बता दे रेलवे का विद्युतिकरण के साथ नए रलवे ट्रैक भी बिछाए गए। हालांकि, लॉकडाउन के दौरान 24 घंटे ट्रैक पर मालगाडि़यां दौड़ती रहती थीं, इसके बावजूद खूब काम किए गए। यात्री ट्रेनें शुरू रहने से अधिकांश मेंटेनेंस का काम नहीं हो पाया था, जो लॉकडाउन में हुआ।

Load More By Bihar Desk
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Check Also

बिहार विधानसभा का सत्र समापन पर राष्ट्रगीत वंदेमातरम से करने की परंपरा है: सुशील मोदी

बिहार विधानसभा में राष्‍ट्र गीत ‘वंदे मातरम’ के अपमान के मसले पर बीजेपी ने राज…