Home झारखंड बारिश के कारण चेक पोस्ट पर जांच का पड़ा असर, बेफिक्र होकर बॉर्डर क्रॉस करती रही ओवरलोड गिट्टी लदे ट्रक

बारिश के कारण चेक पोस्ट पर जांच का पड़ा असर, बेफिक्र होकर बॉर्डर क्रॉस करती रही ओवरलोड गिट्टी लदे ट्रक

8 second read
0
0
29

चक्रवाती तूफान यास का असर 2 दिनों से हो रही बारिश के रूप में देखने को मिल रहा है। इस 2 दिन की बारिश ने आम जनमानस को तो गर्मी से राहत की सांस दी है। लेकिन बिहार-झारखंड के अंतर राज्यीय सीमा पर चितरकोली चेक पोस्ट पर बारिश ने वाहनों की जांच को प्रभावित कर दिया है।

गुरुवार की शाम लगभग 5 बजे उत्पाद विभाग व परिवहन विभाग द्वारा किए जाने वाले जांच के बारिश में प्रभावित हो जाने का फायदा झारखंड की ओर से आने वाले ओवरलोडेड वाहनों को मिला।

बारिश होने के कारण चेक पोस्ट पर स्थित यात्री शेड में होमगार्ड व सैप के जवान बैठे नजर आए और इस दौरान ओवरलोड गिट्टी लदे सैकड़ों ट्रकें बेफिक्र होकर बॉर्डर पार करती रही। बारिश होने के कारण चेक पोस्ट पर प्रतिनियुक्त होमगार्ड व सैप के जवान आराम की मुद्रा में नजर आए

गौरतलब है कि चेक पोस्ट पर प्रतिदिन झारखंड की ओर से आने वाले गिट्टी लदी ट्रक बॉर्डर क्रॉस करती हैं। दिन से लेकर रात तक हर समय ओवरलोड ट्रकों को बॉर्डर पार करते हुए देखा जा सकता है। हाल के दिनों में एसडीओ चंद्रशेखर आजाद के नेतृत्व में डीटीओ अभ्येन्द्र मोहन समेत परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा वाहनों की जांच के दौरान लाखों रुपए जुर्माना वसूल किए गए। लेकिन नियमित रूप से जांच अभियान नहीं चलाए जाने के कारण इंट्री माफियाओं के हौसले कम नहीं हुए।

जानकार सूत्र बताते हैं कि जब कभी रात में मेन लाइन में वाहनों की जांच हो रही होती है तो गांव की तरफ वाली लेन से ओवरलोड गिट्टी लदी ट्रकें तेज रफ्तार से बॉर्डर क्रॉस कर जाती हैं। लोगों का यह भी कहना है कि चेक पोस्ट पर स्पीड ब्रेकर के नहीं होने  व मौजूद स्पीड ब्रेकर के क्षतिग्रस्त रहने के कारण तेज गति से बॉर्डर पार करने वाले ट्रकों को रोक पाना अधिकारियों के लिए भी मुश्किल भरा कदम होता है। साथ ही चेक पोस्ट पर लगे आधे से ज्यादा स्ट्रीट लाइटों के खराब रहने के कारण भी जांच प्रभावित हो रहा है।

Load More By Bihar Desk
Load More In झारखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बीजेपी में शामिल हुई समाजसेविका डॉक्टर बीना लवानिया,कोरोना काल में बनी थी मसीहा

प्रमुख समाजसेविका डॉक्टर बीना लवानिया भगवाधारी हो गई। यानी उन्होंने बीजेपी का दामन थाम लिय…