Home देश केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ अभद्रता मामले में TMC सांसद शांतनु सेन पर गिरी गाज

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ अभद्रता मामले में TMC सांसद शांतनु सेन पर गिरी गाज

28 second read
0
0
18

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ अभद्रता मामले में TMC सांसद शांतनु सेन को अभद्रता करने के मामले में निलंबित कर दिया गया है। सरकार ने राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव से कागज छीनने के आरोप में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद शांतनु सेन के खिलाफ निलंबिन का प्रस्ताव पेश की। जिसपर सभापति ने शांतनु सेन को पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया।

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को शांतनु सेन के निलंबन की घोषणा की। सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने गुरुवार को हुई घटना का जिक्र किया और इसे अशोभनीय बताया। 11 बजे सदन की की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति एम वेंकैया नायडू ने गुरुवार को हुई घटना का जिक्र करते हुए इसे अशोभनीय बताया। सभापति ने कहा कि कल जो कुछ हुआ, निश्चित रूप से उससे सदन की गरिमा प्रभावित हुई।

गौरतलब है कि गुरुवार को सूचना प्रौद्योगिकी और संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव पेगासस के जरिए भारतीयों की कथित जासूसी के मुद्दे पर सदन में बयान दे रहे थे। उसी दौरान, तृणमूल कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दल के सांसद हंगामा करते हुए आसन के समीप आ गए और नारेबाजी करने लगे। इसी बीच तृणमूल कांग्रेस के सदस्य शांतनु सेन ने केंद्रीय मंत्री के हाथों से बयान की प्रति छीन ली और उसके टुकड़े कर हवा में लहरा दिया। इस स्थिति चलते वैष्णव ने बाद में बयान की प्रति सदन के पटल पर रख दर. उपसभापति हरिवंश ने हंगामा कर रहे सदस्यों से असंसदीय व्यवहार ना करने का अनुरोध किया था लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई.

निलंबन को लेकर राज्यसभा में तृणमूल सदस्यों का हंगामा

तृणमूल कांग्रेस के सदस्य शांतनु सेन को निलंबित किए जाने के विरोध में हंगामे के कारण राज्यसभा की बैठक शुक्रवार को 11 बजकर करीब 25 मिनट पर दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे के कारण सदन में आज भी शून्यकाल नहीं हो पाया।

बैठक शुरू होने पर सभापति ने इस पर गहरा दुख व्यक्त किया कि संसद का मानसून सत्र शुरू होने के बाद अब तक केवल कोविड महामारी के मुद्दे पर चार घंटे की चर्चा हो पाई है। इसके अलावा कोई अन्य कामकाज हंगामे की वजह से नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी की विभीषिका के बीच यह सत्र आयोजित हुआ है और जनता से जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा की जानी है।

Load More By Bihar Desk
Load More In देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

एक व्यक्ति को पीट-पीटकर की हत्या, पुलिस कर रही मामले की जांच

इधर नालंदा जिले के चंडी थाना क्षेत्र में आज सुबह एक व्यक्ति को पीट-पीटकर हत्या कर दिया गया…